गोपालगंज: गर्भवती महिलाओं और शिशुओं को दी जाने वाली सेवाओं की जानकारी एमसीपी कार्ड में होगा दर्ज

गोपालगंज: शिशु और मातृ स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग प्रतिबद्ध है। गुणवत्तापूर्ण सेवा उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है। गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं को को दी जाने वाली सेवाओं को मदर चाइल्ड प्रोटेक्शन कार्ड में दर्ज किया जायेगा। इसके साथ हीं प्रत्येक गर्भवती महिलाओं को चार प्रसव पूर्व जांच सुनिश्चित की जायेगी। इसको लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह ने पत्र जारी कर आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। जारी पत्र में कहा गया है कि एमसीपी कार्ड में स्वास्थ्य से संबंधित सूचकांको की जानकारी के आधार पर ही विभिन्न सर्वे की रिपॉट दी जाती है, जो राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं के प्रभावी होने तथा विभिन्न सूचकांकों में राज्य की उपलब्धि को दर्शाता है।

12 वें सप्ताह के अन्दर गर्भवती महिलाओं के पंजीकरण: इसी क्रम में गुणवत्तापूर्ण प्रसव पूर्व जाँच सुनिश्चित करने के लिए 12 वें सप्ताह के अन्दर गर्भवती महिलाओं के पंजीकरण तथा चार प्रसव पूर्व जाँच यानि चार एएनसी की महत्वपूर्ण सूचकांक के रूप में लगातार अनुभवण तथा समीक्षा किया जाना है। राज्य के गर्भवती महिलाओं का वित्तीय वर्ष 2022-23 में जून 2022 तक एएनसी रजिस्ट्रेशन (100%) प्रथम तिमाही (70.8696) में रजिस्ट्रेशन एवं कुल चार प्रसव पूर्व जाँच ( 68% ) का प्रतिशत ही है।

गर्भवती महिलाओं तथा नवजात शिशुओं के स्वास्थ्य सेवाओं को सुनिश्चित करने में एमसीपी कार्ड मददगार: जारी पत्र में कहा गया है कि एमसीपी कार्ड गर्भवती महिलाओं तथा नवजात शिशुओं के स्वास्थ्य सेवाओं को सुनिश्चित करने हेतु काफी मददगार है। राज्य जिला एवं प्रखण्ड स्तर के पदाधिकारियों के क्षेत्र अनुश्रवण में एमसीपी कार्ड की उपलब्धता पर ध्यान दिया जाय यह भी सुनिश्चित हो कि आशा के द्वारा प्रसव कक्ष में लिए जाने वाली गर्भवती महिलाओं का 4 प्रसव पूर्व जाँच की गई हो। यदि नहीं हुआ हो तो उक्त आशा कार्यकर्ता को प्रदर्शन में सुधार लाने के लिए उत्प्रेरित किया जाए। हर प्रसव स्थान पर इसकी उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी।

आशा एवं आगनबाड़ी के पास उपलब्ध होगा एमसीपी कार्ड : 2 एमसीपी कार्ड आशा एवं 5 एमसीपी कार्ड आँगनवाड़ी के पास अतिरिक्त तौर पर उपलब्ध हो एवं 1 आईइसी प्रत्येक आँगनवाड़ी केन्द्र पर प्रदर्शित हो, जो यह जानकारी दे कि एमसीपी कार्ड प्रत्येक गर्भवती महिला एवं नवजात के लिए स्थायी रूप से रखने योग्य दस्तावेज है तथा यह प्रत्येक आँगनवाड़ी केन्द्र पर वितरण हेतु उपलब्ध है। पूर्ण रूप से भरा हुआ कार्ड सभी गर्भवती महिलाओं को अनिवार्य रूप से उपलब्ध किया जाय ताकि कार्यक्रम अंतर्गत दी जाने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ ससमय ले सकें एवं 4 प्रसव पूर्व जाँच सुनिश्चित किया जाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected By Awaaz Times !!