दिल्ली में नोटबंदी के कारण एक व्यक्ति ने की आत्महत्या

नोटबंदी के बाद देश की राजधानी दिल्ली में नोट न बदलवाने पाने के कारण एक शख्स ने आत्महत्या कर ली है. दक्षिणी दिल्ली में खानपुर के राजूपार्क में किराए पर रह रहे 25 वर्षीय वीरेंद्र कुमार बासोया का शव अपने कमरे में पंखे से लटकता मिला.

बताया जा रहा है कि उसने फ्लैट खरीदने के लिए 12 लाख रुपये बचाकर रखे थे, लेकिन पुराने अमान्य नोट होने के कारण वह उन्हें बदलवा नहीं पा रहा था.

इस मामले में अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त नूपुर प्रसाद ने बताया, “कोई सुसाइट नोट नहीं मिला है. जरूरी कानूनी कार्यवाही शुरू कर दी गई है.”

पुलिस के अनुसार, वीरेंद्र की इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की दुकान थी और वह उधार रुपये भी देता था. वीरेंद्र की गर्भवती पत्नी रौनक ने बताया कि वीरेंद्र अपना फ्लैट खरीदने के लिए बचा-बचाकर जुटाए गए 12 लाख रुपये मूल्य के पुराने अमान्य नोटों को न बदलवा पाने के कारण बेहद तनाव में चल रहा था.

रौनक ने कहा, “वीरेंद्र रोज अलग-अलग बैंकों में जाते थे, लेकिन कहीं भी नोट बदले नहीं जा सके.” रौनक ने बतया कि वीरेंद्र कुछ दिन पहले एक व्यक्ति के संपर्क में आया था जिसने 12 लाख रुपये बदलवाने के बदले चार लाख रुपये कमीशन की मांग की थी.

रौनक ने बताया, पिछले सप्ताह ही हमने अपनी शादी की सालगिरह मनाई. वह मालवीय नगर में जल्द ही अपना फ्लैट खरीदने की योजना बना रहे थे, जिसके लिए वह पिछले साल से पैसे जुटा रहे थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!