गोपालगंज डीएम व एसपी ने कहा कि सोशल मिडिया पर अफवाह फैलाने वालों को होगी जेल

गोपालगंज डीएम राहुल कुमार और एसपी रविरंजन कुमार ने शाम 6 बजे प्रेस वार्ता में कहा कि 14 अक्टूबर की शाम 5:35 बजे मजिस्ट्रेट ने सुचना दी कि मूर्तियों का विसर्जन हो चूका है, शेष 3 मूर्तियों का विसर्जन होना बाकी है। कुछ ही देर में 5:49 बजे खबर आई कि बिसर्जन कर लौट रहे लोगो का दूसरे समुदाय के बीच झड़प हो गयी है । स्थिति अब नियंत्रण से बहार है उपद्रवियों ने एक एस्कोर्पिओ गाड़ी को आग के हवाले कर दीया है।ये घटना शाम 5:45 बजे घटित हुई। खबर मिलते ही हम लोग तुरंत घटना स्थल का जायजा लेने निकले तभी रास्ते में देखे की राजा दल पूजा समिति की मूर्ति विसर्जन के लिये निकली थी। दंगा को देखते हुवे राजा दल ने अपना रास्ता बदल कर तुर्काहा के बजाय हरखुवा के लिए कर लिया था, और वहाँ मूर्ती का विसर्जन किया। इसके लिए हम राजा दल पूजा समिति के लोगो का शुक्रिया अदा करते है । जिन्होंने जिला प्रशासन की मदत करते हुवे, अमन चैन कायम रखने में सहयोग किया। साथ ही हम उन सभी पूजा समिति के कार्यकर्ताओ का धन्यवाद करते है जिन्होंने प्रशासन का सहयोग किया है। जिन पूजा समिति व लोगो द्वारा भ्रान्ति फैलाया गया व जो जिला प्रशासन का सहयोग नहीं किये है ऐसे लोगो को चिन्हित कर कानूनी करवाई की जायेगी। डीएम राहुल कुमार ने कहा कि जब मैं तुर्काहा पंहुचा तो देखा की स्थानीय लोग उग्र होकर खड़े है। रास्ते में एस्कोर्पिओ जल रहा था। घटना के बाद तुरंत शहर में 5 मजिस्ट्रेट की ड्यूटी लगाते हुवे 19 एस्ट्रेटिक राउण्ड चिन्हित किया गया। शहर में रात भर पेट्रोलिंग चलता रहा। ट्राई के डारेक्टर से बात कर इन्टरनेट सेवा को बंद कराया गया। जिले के सभी मन्दिर व मस्जिदों पर सीओ व वीडियो को कह कर सुरक्क्षा की निगरानी करने को कही गयी। 14 अक्टूबर घटना की रात में ही उपद्रवियों पर लगाम लगाते हुए जिले में शांति व्यवस्था कायम कर ली गयी। सुबह में सब कुछ सामान्य था लेकिन लोग सहमे हुवे थे। सुबह में स्थिति को देखने के पश्चात ये निर्णय लिया गया कि निसेधज्ञा नहीं लागू किया जायेगा । सांप्रदायिक दंगा के बाद हुई छापेमारी में दोनों ही समुदाय से लोगो की गिरफ्तारियां हुई है। 584 लोगो पर 107 का नोटिस हुवा है जिसका जवाब उनके द्वारा नहीं देने पे जेल का रास्ता देखना पड़ेगा। 15 अक्टूबर को अफवाह व भय के कारण लोगो ने दुकाने बंद रखी लेकिन आज 16 अक्टूबर को कुछ खास जगहों पर कुछ दुकाने बंद थी बाकी देखा गया कि 90 प्रतिशत दुकाने खुली है। कल शाम में हमने शांति समिति का बैठक कीया जिसमे राजनितिक दलों का भी सहयोग मिला है। इस पूरे घटना में अभी तक दोनों ही समुदाय से 25 लोगो की गिरफ्तारी हुई है, 202 लोगो को नामजद अभियुक्त बनाया गया है, 584 लोगो पर 107 का नोटिस हुवा है साथ ही दोनों समुदाय से हजारों की संख्या में अज्ञात लोगो के ऊपर प्राथमिकी दर्ज की गयी है। इस घटना में 2 ट्रैक्टर, 1 एस्कोर्पियो, 2 वैन व एक बाइक को उपद्रवियों द्वारा जला दी गयी है साथ ही ये भी कहा कि अगर किसी और का कोई वाहन जला है तो इसकी सूचना वो प्रशासन को दे।
पूरी घटना 14 अक्टूबर से 16 अक्टूबर तक में 25 लोगो की गिरफ्तारी हुयी है। इसमें एक नाम पंकज सिंह राणा का है जिसके फेसबुक अकाउंट से अफवाहे फैलायी जा रही थी। पुलिस ने त्वरित कार्यवायी कर पंकज सिंह राणा को धर दबोचा। डीएमए और एसपी ने कहा कि सोशल मिडिया पर अफवाहों को फैलाने व शांती भंग करने के उद्देश्य से कोई भी संदेश भेजने वाले पर त्वरित कार्यवायी करते हुवे जेल भेजा जायेगा। जिसका एक उदाहरण है पंकज सिंह राणा।

मुख्य जगहों पर अब भी मजिस्ट्रेट बहाल है। गोपालगंज जिला पूर्णतः नियंत्रण में है। आप सभी आम जन जीवन की तरह भय मुक्त होकर रहे। कोई भी वयक्ति किसी प्रकार की अफवाह फैला रहा है तो वैसे उपद्रवियों से बचे और इसकी सुचना प्रशासन को दे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!