गोपालगंज: केंद्र सरकार द्वारा लाये गए किसान बिल के खिलाफ राजद ने किया प्रदर्शन और नारेबाजी

गोपालगंज: केंद्र सरकार द्वारा लाये गए किसान विरोधी कृषि बिल के खिलाफ जिला राजद ने आज जिला मुख्यालय पर रोषपूर्ण प्रदर्शन कर केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ जम कर नारेबाजी की। राजद के प्रधान महासचिव इम्तेयाज़ अली भुट्टो के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं की टोली राजद कार्यालय से निकल कर पूरे शहर का भ्रमण करने के बाद जिला समाहरणालय के सामने जोरदार प्रदर्शन किया।

इस अवसर पर बोलते हुए इम्तेयाज़ अली भुट्टो ने इस बिल को बड़ी कंपनियों द्वारा किसानों के शोषण की स्थिति को जन्म देने वाला कानून बताते हुए कहा कि नए कानून से कृषि क्षेत्र भी पूंजीपतियों और कारपोरेट घरानों के हाथ मे चला जायेगा और इसका नुकसान देश के किसानों को होगा। इम्तेयाज़ अली भुट्टो ने न्यूनतम समर्थन मूल्य को खत्म करने का पुरजोर विरोध करते हुए कहा कि इस प्रावधान को खत्म करना किसानों को आत्महत्या करने पर मजबूर करने जैसा है। इससे आने वाले दिनों में धीरे धीरे मंडियां खत्म हो जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार का ये काला कानून किसानों को अपनी ही जमीन पर मजदूर बना देगा।

राजद नेता महंथ सत्यदेव दास ने बिल का पुरजोर विरोध करते हुए कहा कि केंद्र व राज्य सरकार कसम किसानों की खाती है पर फायदा पूंजीपतियों को पहुचाती है। किसान बिल को वापस लेने की मांग करते हुए कहा कि सरकार द्वारा किसान विरोधी कृषि बिल ला कर खेत खलिहान को पूंजीपतियों के हाथ गिरवी रखने का षड्यंत्र किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बिल वापस होने तक राजद के आंदोलन अनवरत जारी रहेगा।

किसान सेल के जिला अध्यक्ष अरुण सिंह ने कृषि बिल को काला कानून बताते हुए कहा कि इस बिल के माध्यम से सरकार ने किसान मजदूर औऱ छोटे दुकानदारों के आजीविका पर हमला करने का काम किया है। उन्होंने ने कहा कि इस काले कानून के वापस होने तक राजद का आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि आने वालों दिनों में सरकार को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

मौके पर जिला उपाध्यक्ष सुरेश चौधरी, युवा अध्यक्ष संतोष यादव, राजद नेता मो कासिम, राजा राम मांझी, कृष्णा यादव, बिरुलाल मांझी, योगेश गुप्ता, मुकेश यादव, दिलीप गुप्ता, राहुल गुप्ता, मो सोनू, संजीव सिंह, अनिल कुमार प्रजापति, शैलेश गुप्ता, प्रदीप चौहान, प्रत्यूष कुमार प्रवीण आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!