गोपालगंज: राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान के दौरान नहीं होगा कोविड-19 टीकाकरण का कार्य

गोपालगंज में कोरोनावायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई है। प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जा रहा है। राज्य स्वास्थ समिति के निर्देशानुसार सप्ताह में 4 दिन टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है। जिले में 31 जनवरी से पांच दिवसीय पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत की जाएगी। इस दौरान कोविड-19 का टीकाकरण नहीं किया जाएगा। इसको लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने पत्र जारी कर सभी जिला पदाधिकारी को निर्देश दिया है। जारी निर्देश में कहा गया है कि पूर्व में 17 जनवरी से संचालित किए जाने वाले राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान को अगले आदेश तक स्थगित कर दिया गया था। भारत सरकार के निर्देशानुसार पल्स पोलियो राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान को 31 जनवरी से संचालित किए जाने का निर्देश दिया गया है। अतः निर्देशित है कि 31 जनवरी से राष्ट्रीय पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान को संचालित किया जाए। पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान के दौरान सभी चयनित सत्र स्थलों पर कोविड-19 का टीकाकरण उक्त अवधि में स्थगित रहेगा तथा पल्स पोलियो अभियान की समाप्ति के पश्चात ही कोविड-19 का टीकाकरण संचालित किया जाएगा। इसके साथ ही पल्स पोलियो अभियान के प्रचार प्रसार हेतु आईसी सामग्रियों का उपयोग करने का निर्देश दिया गया है।

पत्र के माध्यम से निर्देश दिया गया है कि पल्स पोलियो अभियान के दौरान राज्य के सभी सदर अस्पताल व जिला अस्पतालों एवं मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में कोविड-19 का टीकाकरण यथावत जारी रहेगा। इसे सुनिश्चित करने हेतु सम्मानित पदाधिकारियों का आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया है।

जिले में सभी चयनित सत्र स्थलों पर सप्ताह में 4 दिन कोविड-19 टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है। निर्देशानुसार शुक्रवार बुधवार एवं राजकीय अवकाश को छोड़कर ही कोविड-19 टीकाकरण संचालित किया जा रहा है। यानी प्रत्येक सप्ताह सोमवार, मंगलवार , गुरुवार और शनिवार को ही स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जा रहा है।

प्रथम चरण में कोरोना योद्धाओं का टीकाकरण किया जा रहा है। प्रतिदिन प्रत्येक सत्र स्थल पर 100 – 100 लाभार्थियों को टीका कृत करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। पंजीकृत लाभार्थियों को ही टिकट दिया जा रहा है। प्रत्येक टीकाकरण स्थल पर 5-5 कर्मियों को लगाया गया है। सभी टीकाकरण सत्र स्थलों पर चुनाव बूथ के अनुसार टीकाकरण रूम बनाया गया है। प्रत्येक सत्र स्थल पर तीन कमरा उपलब्ध है। पहला कमरा लाभार्थियों को टीका लेने के लिए वेटिंग एरिया, दूसरा कमरा टीकाकरण के लिए एवं तीसरा टीकाकरण के पश्चात 30 मिनट तक लाभार्थी की निगरानी के लिए बनाया गया है। वही ऑब्जरवेशन रूम में पर्याप्त संख्या में बेड एवं कुर्सी की उपलब्धता भी सुनिश्चित की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!