गोपालगंज: यूनिसेफ और स्वास्थ्य विभाग के द्वारा की गयी बैठक, टीकाकरण के महत्व पर हुई चर्चा

गोपालगंज। वैश्विक महामारी कोरोना संकट के बीच नियमित टीकाकरण को लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से विशेष रुप से ध्यान दिया जा रहा है तथा इसके प्रति समुदायस्तर पर जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है। जिले के विजयपुर प्रखंड हरदिया मुसहर टोला में स्वास्थ्य विभाग व यूनिसेफ के द्वारा सामुदायिक बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में नियमित टीकाकरण के महत्व पर चर्चा की गई। इसके साथ ही कोरोना संक्रमण से बचाव के प्रति जागरूक भी किया गया। यूनिसेफ के जिला समन्वयक रूबी कुमारी ने बताया कि बैठक में 12 बीमारियों से बचाव के लिए दिये जाने वाले टीका के बारे में बताया गया। जिसमें टीबी, पोलियो, गलघोटू ,काली खांसी, टेटनस, हैपेटाइटिस बी, खसरा, रूबेला, दिमागी बुखार, निमोनिया, डायरिया से बचाव के लिए दिए जाने वाला टीका के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। बैठक का संचालन प्रखंड समन्वयक राजीव कुमार के द्वारा किया गया। बैठक में एएनएम मंतुरन देवी, आशा फैसलिटेटर चन्दा गौतम, संजू देवी, मयंती देवी, आंगनबाड़ी सेविका के साथ-साथ गांव की महिलाएं काफी संख्या में शामिल हुई थी। महिलाओं से अपील की गई कि अपने बच्चों को गर्भवती महिलाओं को नियमित रूप से टीका लगवाये। टीकाकरण से कई तरह के गंभीर बीमारियों से बचाव होता है। इससे नवजात शिशुओं में रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है।

कोरोना से बचाव को दी गई जानकारी: सामुदायिक बैठक में टीकाकरण के साथ-साथ वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से बचाव के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी गई। जिसमें मास्क का उपयोग, शारीरिक दूरी का पालन, नियमित हाथों की धुलाई भीड़भाड़ वाले जगहों पर जाने से परहेज करने, साफ-सफाई जैसे इत्यादि सुरक्षित तरीकों को बताया गया।

6 माह तक शिशुओं को करायें सिर्फ स्तनपान: सामुदायिक बैठक में महिलाओं को यह जानकारी दी गई कि नवजात शिशुओं को 6 माह तक सिर्फ मां का ही दूध पिलाएं। सिर्फ स्तनपान कराने से नवजात शिशुओं में कई तरह की बीमारियों से बचाव होता है तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है। सिर्फ स्तनपान से ना सिर्फ नवजात को फायदा होता है बल्कि मां को भी कई तरह की बीमारियों से बचाव होता है। इसलिए नवजात शिशुओं को 6 माह तक सिर्फ मां का दूध पिलाना है बहुत जरूरी है।

एसीएमओ की अध्यक्षता में हुई सप्ताहिक बैठक: एसीएमओ डॉ एके चौधरी की अध्यक्षता में भोरे प्रखंड में सप्ताहिक बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में एएनएम आशा कार्यकर्ता, आशा फैसिलिटेटर शामिल थे। बैठक में एसीएमओ ने कई अहम बिंदुओं पर समीक्षा की। एसीएमओ ने डाटा वैलिडेशन, नियमित टीकाकरण की ड्यूलिस्ट, सर्वे, एएनएम रजिस्टर, आरोग्य दिवस कार्यक्रम के बारे में जानकारी ली। इस दौरान एसीएमओ ने निर्देश दिया कि आरोग्य दिवस के दौरान कोविड-19 के सुरक्षा नियमों का पालन करना आवश्यक है। इसलिए आरोग्य दिवस के दौरान मास्क, ग्लोव्स, सोशल डिस्टेंसिंग , सैनिटाइजेशन, इंजेक्शन प्रैक्टिस का सुरक्षित निस्तारण करना बेहद जरूरी है। यूनिसेफ के जिला समन्वयक रूबी कुमारी ने बताया कि बैठक के दौरान सितंबर माह में चलने वाले सघन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा तथा पोलियो अभियान की तैयारियों की समीक्षा की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!