मोदी सरकार से डरी केजरीवाल की पत्नी ने छोड़ी इनकम टैक्स की नौकरी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनिता केजरीवाल ने अपनी नौकरी ने वीआरएस ले लिया है. सुनिता इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में कमिश्नर के पद पर कार्यरत थी. पिछले 22 साल से नौकरी कर रही सुनिता ने साल के शुरुआत में ही वीआरएस की मांग की थी. जिसके बाद केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने केजरीवाल की पत्नी के वीआरएस का आर्डर जारी कर दिया है. केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड के आदेश के अनुसान 15 जुलाई से सुनिता को वीआरएस मिल जाएगा.

केजरीवाल के करीबी सुत्रों की माने तो 51 साल की सुनिता को लगातार इस बात का डर था कि कहीं उन्हें राजनीतिक मुहरा ना बनाया जाए. दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद से लगातार जिस तरह से केंद्र और दिल्ली सरकार के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है, उसे देखते हुए इस तरह के किसी भी आरोप से बचने के लिए सुनिता ने वीआरएस लेने का फैसला किया है.

2014 लोकसभा चुनाव में जब केजरीवाल पीएम मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़ रहे थे. उस वक्त सुनिता ने लंबी छुट्टी ली थी. हलांकि इस दौरान सुनिता ने केजरीवाल के लिए प्रचार तो नहीं किया था, लेकिन केजरीवाल के सपोर्ट में वो हमेशा खड़ी थी. बताया जाता है कि चुनाव प्रचार के दौरान केजरीवाल एण्ड टीम के लिए खाने पीने से लेकर आराम करने तक का पूरा जिम्मा केजरीवाल की पत्नी ने उठाया था. उस वक्त भी केजरीवाल के लिए प्रचार ना करने के पीछे नौकरी की मजबूरी को ही बताया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!