NIA अधिकारी की गोलीमार हत्या

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) के एक अधिकारी मोहम्मद तनज़िल अहमद की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। इस घटना को दो बाइकसवार हमलावरों ने अंजाम दिया। इस हमले में कार में बैठी उनकी पत्नी बुरी तरह से घायल हो गईं। उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया है। इस हमले में कार में बैठे उनके बच्चे बाल-बाल बच गए। बताया जा रहा है कि तंजील पठानकोट मामले की जांच की कोर टीम का हिस्सा थे, हालांकि NIA ने इसकी पुष्टि नहीं की है।

जानकारी के मुताबिक रविवार को NIA दिल्ली में नियुक्त तंजील अहमद स्योहारा में अपनी भांजी के शादी समारोह से निपटकर पत्नी व दो बच्चों के साथ अपनी वैगन आर कार से पैतृक कस्बे सहसपुर लौट रहे थे। पुलिस सूत्रों के अनुसार रात करीब एक बजे सहसपुर में घुसने से पहले नगरपालिका सहसपुर के गेट के निकट दो बाइकों पर आए चार बदमाशों ने उन पर स्वचालित हथियारों से ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं और फरार हो गए। तंजील अहमद को आठ गोलियां लगीं, जबकि उनकी पत्नी फरजाना को भी दो गोलियां लगीं। उनके दोनों बच्चों आठ वर्षीय शहबाज और दस वर्षीय जिमनिस ने सीट के नीचे घुसकर अपनी जान बचाई।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने परिजनों की मदद से तंजील अहमद व फरजाना को कॉसमॉस हॉस्पिटल मुरादाबाद पहुंचाया, जहां तंजील अहमद को मृत घोषित कर दिया गया, जबकि फरजाना को दिल्ली रेफर कर दिया। सूचना पर एएसपी देहात डॉ. धर्मवीर सिंह समेत पुलिस अधिकारियों ने बदमाशों की रात भर तलाश की, लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला।

सूत्रों की मानें तो एक साल पूर्व डीएसपी तंजील अहमद की कुछ आतंकियों को पकड़ने में अहम भूमिका रही थी। इनकी हत्या को उसी से जोड़कर देखा जा रहा है। सुबह डीआईजी मुरादाबाद डॉ. ओंकार सिंह ने भी स्योहारा पहुंचकर पुलिस अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

उच्च अधिकारियों के हवाले से जानकारी मिली कि वह कई अन्य उच्च स्तरीय जांचों का भी हिस्सा रहे हैं। वारदात के बाद एनआईए की टीम तुरंत मुरादाबाद पहुंच गई। एनआईए इस वारदात की जांच में जुट गई है। एनआईए ने इस मामले में यूपी सरकार से भी रिपोर्ट मांगी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!