तीन सालों में जाकिर नाइक के खातों में विदेश से आए 60 करोड़

विवादास्पद धार्मिक गुरु जाकिर नाइक एक बार फिर विवादों में हैं। इस बार मामला विदेशों से खातों में पैसे आने का है। मुम्बई पुलिस की जांच में सामने आया है कि जाकिर से जुड़े बैंक खातों में पिछले तीन सालों में 60 करोड़ रुपए जमा कराए गए हैं। यह रकम अलग-अलग देशों से भेजी गई है। एक पुलिस अधिकारी ने नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर बताया कि नाइक के परिवार के सदस्यों से जुड़े पांच बैंक खातों में यह रकम जमा की गई है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक इन लेन-देन की जांच की जा रही है।

मुंबई पुलिस की जांच में यह बात भी सामने आई है कि जाकिर की चार कंपनियां भी हैं, जिसके डायरेक्टर उनके परिवार के अलग-अलग लोग हैं। जाकिर नाइक के बारे में अभी तक सिर्फ यही बात सार्वजनिक थी कि वह डोंगरी स्थित इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) के संस्थापक हैं। इसका अलावा उनका एक एजुकेशन ट्रस्ट भी है।

एक अधिकारी ने बताया कि हम अभी तक यह नहीं पता लगा पाए हैं कि ये रकम किस मकसद से जमा की गर्ई। हमने जांच की और इस लेन-देन का पता लगाया। अधिकारी ने साफ किया कि ये बैंक खाते नाइक के एनजीओ से जुड़े नहीं हैं, बल्कि उसके निजी खाते हैं। इस सिलसिले में अभी दूसरे अधिकारियों से पूछताछ नहीं की गई है।

पुलिस ने बताया कि आयकर विभाग से इन कंपनियों की पूरी जानकारी मांगी गई है। पुलिस कर रहे हैं कि इन कंपनियों को फंडिंग कहां से होती थी। क्या धर्म परिवर्तन के लिए फाइनेंस इन्हीं कंपिनयों से होता था। पूरी जानकारी मिलने के बाद जाकिर के परिवार के लोगों से पुलिस पूछताछ करेगी।

यहां बताना जरूरी है कि पिछले महीने केरल पुलिस और महाराष्ट्र एटीएस ने आईआरएफ के कर्मचारी अर्शीद कुरैशी को गिरफ्तार किया था। उसने पूछताछ में बताया था कि उसने जितने भी लोगों का धर्म परिवर्तन करवाया, उसे आईआरएफ फाइनेंस करता था। पुलिस को यह भी शक है कि जाकिर की देश और विदेश में और भी बेनामी कंपनियां हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!