गोपालगंज: ‘एडिप योजना’ के तहत दिव्यांगजनों को कृत्रिम अंगों के उपकरण का किया जायेंगे वितरण

गोपालगंज के दिव्यांगजनों के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम (एलिम्को) की ओर से ‘एडिप योजना’ के तहत जल्द ही कृत्रिम अंगों के उपकरण वितरण किये जायेंगे। पहली बार कृत्रिम अंगों की उपकरणों के लिए प्रखंडवार विशेष कैंप आयोजित किया गया था, जिसमें 2541 दिव्यांगजनों ने अपना पंजीकरण कराया था।

मंगलवार को सांसद डॉ आलोक कुमार सुमन ने इसकी समीक्षा करते हुए बताया कि कोरोना का संक्रमण कम होने के बाद कृत्रिम अंगों की उपकरणों का वितरण प्रखंडवार किया जायेगा। बिहार सरकार के समाज कल्याण विभाग के मंत्री को मुख्य अतिथि के तौर पर कार्यक्रम में आमंत्रित किया जायेगा। उधर, एलिम्को के अधिकारियों ने सांसद को बताया कि पंजीकरण करनेवाले सभी दिव्यांगजनों का उपकरण तैयार करा दिया गया है।

सांसद ने बताया कि लंबे समय से दिव्यांगजनों को कृत्रिम अंगों का उपकरण नहीं मिला है। जनता दरबार मे कई दिव्यांगजनों ने इसकी मांग की थी, जिसके बाद ‘एडिप योजना’ के तहत एलिम्को कंपनी के विशेषज्ञों को बुलाया गया और सामाजिक सुरक्षा कोषांग की ओर से प्रखंडवार विशेष कैंप आयोजित किया गया। कैंप में पंजीकरण कराने वाले सभी लाभुकों को कृत्रिम अंग और उपकरण दिये जायेंगे।

प्रखंडवार लाभुकों की सूची

प्रखंड का नाम – कुल लाभुक

बैकुंठपुर – 207
बरौली – 156
भोरे – 230
विजयीपुर – 170
सदर ब्लॉक – 124
हथुआ – 182
कटेया – 181
कुचायकोट – 234
मांझा – 187
पंचदेवरी – 133
फुलवरिया – 198
सिधवलिया – 186
थावे – 153
उचकागांव – 200
टोटल लाभुक – 2541

एलिम्को की ओर से बताया गया कि अधिकतर दिव्यांगजनों ने हाथ-पैर का कृत्रिम अंग, ट्राइसाइकिल, व्हीलचेयर, बैसाखी, कान की मशीन, छड़ी, मानसिक दिव्यांगजन हेतु कीट, ब्लाइंड स्टिक के लिए पंजीकरण कराया है। पंजीकरण के अनुसार उपकरणों को तैयार कराया गया है।

सीनियर डिप्टी कलेक्टर सह दिव्यांगजन निदेशालय की प्रभारी सहायक निदेशक पिंकी शर्मा ने सांसद को बताया कि कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। इस परिस्थिति में दिव्यांगजनों का शिविर लगाना जोखिम भरा हो सकता है। कोरोना महामारी कम होते ही एलिम्को के अधिकारियों और समाज कल्याण विभाग के मंत्री, सांसद से तिथि निर्धारित करा वितरण करा दिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!