BJP अध्यक्ष ने दलित के घर खाने का किया ढोंग, होटल से मंगाकर खाया खाना

कर्नाटक के बीजेपी अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने दलित के घर खाना खाने का एक नया ढोंग किया है। आरोप है कि उन्हें परोसा गया खाना दलित परिवार के घर में नहीं बनाया गया था बल्कि पास के होटल से मंगाया गया था।

शुक्रवार को टुमकूर जिले में पूर्व मुख्यमंत्री येदियुरप्पा अपने दौरे के दौरान पार्टी के अन्य सदस्यों के साथ एक दलित परिवार के घर गए थे, जहां उन्होंने इडली खाई थी। आरोप है कि इडली दलित परिवार के घर में नहीं बनाई गई थी, बल्कि पास के होटल से मंगवाई गई थी।

एक दलित व्यक्ति वेंकटेश डी ने येदियुरप्पा पर छुआछूत का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। वेंकटेश डी ने शिकायत में कहा है कि शुक्रवार को चित्रदुर्ग जिले के दौरे के दौरान येदियुरप्पा ने केलकोट क्षेत्र में दलित परिवार के घर भोजन किया था। पूर्व मुख्यमंत्री ने जो खाना खाया वो दलित परिवार द्वारा नहीं बनाया गया था, बल्कि उसे नजदीक के होटल से मंगवाया गया था। शिकायत में कहा गया कि येदियुरप्‍पा ने दलित के घर भोजन करने का ढोंग किया। इससे दलितों के सम्‍मान को ठेस लगी है। उन्होंने कहा कि येदियुरप्पा के ऐसा करने से दलित समुदाय में गलत व नकारात्मक संदेश जाएगा।

इस मामले को लेकर जनता दल (सेक्युलर) के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने बीएस येदियुरप्पा की आलोचना की है। वहीं राज्य कांग्रेस के अध्यक्ष जी परमेश्वरा ने कहा है कि दलित समाज के लोग पूर्व मुख्यमंत्री को सबक सिखाएंगे।

शिकायतकर्ता परिवार के दावों को खारिज करते हुए बीजेपी के प्रवक्ता ने इस मामले को राजनीति से प्रेरित बताया। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने इस मुद्दे को उठाया है, उन्हें परिवार से माफी मांगनी चाहिए। बीजेपी के प्रवक्ता ने कहा, ‘कांग्रेस और जेडी(एस) दोनों को कर्नाटक में अपनी राजनीतिक जमीन खिसकती हुई नजर आ रही है। इसकी क्षतिपूर्ति करने के लिए वे येदियुरप्पा के खिलाफ झूठे आरोप लगा रहे हैं। येदियुरप्‍पा पर लगाए जा रहे आरोप गलत हैं।’

वहीं पुलिस का कहना है कि उन्हें शनिवार को शिकायत मिली है और वो मामले की जांच के बाद आवश्यक कार्रवाई करेंगे। इधर अपने पर लगे आरोपों पर टिप्‍पणी करते हुए येदियुरप्पा ने रविवार को बेंगलुरु में कहा कि कांग्रेस और जेडी(एस) ने इस मुद्दे को उठाकर दलितों का अपमान किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!