मोदी सरकार ने दिया आखिरी मौका, 31 मार्च तक अघोषित आय का कालाधन स्वामी कर सकते हैं खुलासा

पुराने 500 और 1000 के नोटों पर बैन लगाने वाली मोदी सरकार ने कालाधन रखने वालों को अब आखिरी बार एक और मौका दिया है। राजस्व सचिव हंसमुख अधिया ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 31 मार्च, 2017 तक कोई भी अपने ब्लैकमनी को सार्वजनिक कर सकता है। अगले तीन महीने के दौरान आप 50% टैक्स और पेनल्टी के साथ अघोषित आय का खुलासा कर सकेंगे। वही सरकार ने इस दिशा में एक ईमेल जारी करते हुए देश की आम जनता से सहयोग मांगा है। इस ईमेल के माध्यम से आप सरकार तक उन लोगों की जानकारी पहुंचा सकते हैं जिनके पास कालाधन है। सूचना देने वाले की पहचान को गोपनीय रखा जाएगा।

राजस्व सचिव हंसमुख अधिया से साथ ही ये भी कहा कि जो व्यक्ति अपने पास रखे काले धन को सार्वजनिक करेगा उसका भी नाम गोपनीय रखा जाएगा। रकम का 50 फीसदी हिस्सा जुर्माना भुगतना होगा। जबकि 25 फीसदी रकम को चार साल तक के लिए लॉक कर दिया जाएगा। राजस्व सचिव हंसमुख अधिया ने इस विषय में एक अहम घोषणा करते हुए कहा घोषणा करने वाले व्यक्ति को कालेधन के तहत आने वाले सभी अपराधों से भी छूट मिल जाएगा।

अधिया ने कर कानून संशोधन की जानकारी देते हुए स्पष्ट किया कि घोषणा करने वाले व्यक्ति को पीएमएलए, तस्करी, बेनामी संपत्ति और फॉरेन एक्सचेंज समेत अन्य आपराधिक कानून से छूट नहीं मिलेगी। संबंधित व्यक्ति को सिर्फ कालेधन कानून से ही निजात मिलेगी।

नोटबंदी के बाद कालाधन रखने वालों की रातों की नींद उड़ाने वाली मोदी सरकार ने काफी सख्ती के बाद पहली बार कालाधन रखने वालों पर कुछ नरमी दिखाई हैं। सरकार का ये दांव कितना कारगर होगा ये देखना अब दिलचस्प होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!