चेन्नई में वरदा साइक्लोन: 192 Kmph की रफ्तार से चलीं हवाएं, 2 की मौत

साइक्लोन वरदा सोमवार को दोपहर 2.15 बजे चेन्नई से टकराया। नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने कहा कि दो लोगों की मौत हो गई है। 8008 लोगों को 95 रिलीफ कैंपों में शिफ्ट किया गया है। मौसम विभाग ने बताया, “चेन्नई में हवाओं की रफ्तार 192 Kmph रिकॉर्ड की गई। अगले तीन घंटों में हवा की रफ्तार 60 से 70 Kmph हो जाएगी।” हवाओं के चलते कई पेड़ उखड़ गए और कई हिस्सों में ट्रैफिक जाम भी हो गया। सेना और एनडीआरएफ ने रिलीफ ऑपरेशन शुरू कर दिया है। मछुआरों को भी वॉर्निंग दी गई है। 12 घंटे तक तेज हवा और भारी बारिश की भी बात कही गई है।
राजनाथ ने किया पन्नीरसेल्वम को फोन…
– होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने तमिलनाडु के सीएम ओ पन्नीरसेल्वम से फोन पर बात की और हालात की जानकारी ली।
राजनाथ ने कहा, “गृह मंत्रालय ने हालात पर नजर बना रखी है। केंद्र वरदा से प्रभावित राज्यों को हर संभव मदद देने को तैयार है।’
– सेना और एनडीआरएफ रिलीफ और रेस्क्यू ऑपरेशन में जुट गए हैें।
– एनडीआरएफ के अफसर संतोष कुमार ने बताया कि 7 टीमें आंध्र प्रदेश के लिए रवाना की गई हैं, जो किसी भी हालात से निपट सकती हैं।
– चेन्नई एयरपोर्ट पर सभी ऑपरेशन 9 बजे तक के लिए बंद कर दिए गए हैं।
– साइक्लोन के चलते 50 फ्लाइट्स पर असर पड़ा है। ये फ्लाइट्स देरी से चल रही हैं या उनके रूट बदले गए हैं।
– तमिलनाडु सरकार ने एन्नोर और पलावेरकाडु इलाकों में रहने वाले लोगों से घर छोड़ने की अपील की है।
– मीटिअरोलॉजिकल डिपार्टमेंट के डायरेक्टर एस. बालचंद्रन के मुताबिक, ‘अगले 36 घंटों में तमिलनाडु के उत्तरी तटीय इलाकों, पुड्डुचेरी, चेन्नई और तिरुवलूर में भारी बारिश होगी।’
– एनडीआरएफ के डीजी आरके पचनंदा के मुताबिक, ‘हम स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। आंध्रप्रदेश में टीमें भेज दी गई हैं। तमिलनाडु की बात करें तो चेन्नई में 3, कांचीपुरम में 2, तिरुवलूर में 2 और पुड्डुचेरी में एक टीम भेज दी गई है।’
NDRF की 19 टीमें तैनात
– आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु में एनडीआरएफ की 19 टीमें तैनात की गई हैं।
– आंध्र के सीएम चंद्रबाबू नायडू ने कहा है कि किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए सरकार के पास पर्याप्त मात्रा में जरूरी चीजें हैं। हम हालात पर नजर रखे हुए हैं।
– सीएम पनीरसेल्वम ने भी अफसरों के साथ मीटिंग की थी।
– केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि हमें अगले 24 से 36 घंटों तक सतर्क रहना होगा।
– रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि सबअर्बन रेल नेटवर्क को फिलहाल बंद कर दिया गया है। चेन्नई तक जाने वाली या शुरू होने वाली कुछ ट्रेनों को कैंसल कर दिया गया है या डायवर्ट कर दिया गया है।
– आंध्र प्रदेश के कोस्टगार्ड डीआईजी ने कहा कि दो मछुआरों को बचाने के लिए भेजा गया शिप खराब मौसम के चलते पहुंच नहीं सका।
क्या बोले नेवी के पीआरओ?
– नेवी के चीफ पीआरओ कैप्टन डीके शर्मा के मुताबिक, तूफान के असर के चलते कई पेड़ उखड़ गए हैं।
– नेवी के दो शिप्स शिवालिक और कडमाट पर 10 डाइविंग टीमें भी तैनात हैं। 6 डाइविंग टीमें रेडी टू गो पोजिशन में हैं।
– विशाखापत्तनम में 22 डाइविंग टीमें स्टैंड बाई पर हैं। इसके अलावा एक सर्वे शिप को भी स्टैंडबाई पर रखा गया है।
– राजाली और देगा नेवल एयर स्टेशन पर नेवी एयरक्राफ्ट भी ऑपरेशन के लिए तैयार है।
– आर्मी अफसरों के मुताबिक, रेस्क्यू-रिलीफ ऑपरेशन के लिए 7 टुकड़ियां तैनात की गई हैं।
स्कूल-कॉलेजों की छुट्टी घोषित
– सोमवार को चेन्नई, कांचीपुरम और तिरुवलूर समेत तटीय इलाकों के सभी स्कूल-कॉलेजों की छुट्टी कर दी गई।
– अन्ना यूनिवर्सिटी ने सोमवार को होने वाले एग्जाम की डेट आगे बढ़ा दी है।
– मछुआरों को समंदर में जाने को लेकर वॉर्निंग दी गई है। मौसम विभाग के कहना है कि 100 किमी/घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। इससे खतरा हो सकता है।
तूफान का असर: कई ट्रेनें रद्द
– हाईअलर्ट के मद्देनजर सदर्न रेलवे ने एहतियातन कुछ ट्रेनों को रद्द किए जाने का एलान किया है। चेन्नई सेंट्रल एवं एगमोर स्टेशन पर इमरजेंसी टेलीफोन बूथ खोला गया है।
– अफसरों के मुताबिक सुल्लुरपेट्टा से चेन्नई सेंट्रल तक चलने वाली एक्सप्रेस ट्रेन, विजयवाड़ा-चेन्नई सेंट्रल पिनाकिनी एक्सप्रेस, गुडुर और चेन्नई सेंट्रल के बीच चलने वाली दो ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है।
– इसी तरह नेल्लोर-सुल्लुरपेटा मेमू लोकल गुडुर और सुल्लुरपेट्टा के बीच रद्द कर दी गई है।
– चेन्नई सेंट्रल और गुम्मिडीपुंडी के बीच हर घंटे केवल एक ईएमयू लोकल चलाई जाएगी। चेन्नई-अरक्कोनम, चेन्नई-तम्बारम-चेंगलपट्टु और चेन्नई एमआरटीएस खंड पर रोजाना ईएमयू चलती रहेगी।
– वहीं, स्टेशन पर लोगों की सहूलियत के लिए आपात टेलीफोन बूथ लगाया गया है। चेन्नई सेंट्रल स्टेशन पर बूथ नंबर 044-29015206 और एगमोर स्टेशन पर 044-29015202 हैं।
‘वरदा’ का क्या मतलब है?
– बंगाल की खाड़ी से उठा वरदा इस सीजन का तीसरा चक्रवाती तूफान है।
– ‘वरदा’ का मतलब अरबी या उर्दू में ‘गुलाब’ होता है।
– नॉर्थ हिंद महासागर में चक्रवाती तूफानों का नामकरण आईएमडी करता है।
– जब हवा की स्पीड कम से कम 63 kmph हो जाती है और यह कुछ देर बरकरार रहती है तो 3 मिनट के भीतर ये चक्रवाती तूफान का रूप ले लेती है।
हेल्पलाइन नंबर जारी
– चेन्नई के हेल्पलाइन नंबर: 044-25619206, 25619511, 25384965, 25383694, 25367823, 25387570
– पुड्डुचेरी हेल्पलाइन नंबर: 1077, 1070
– कुड्डालूर हेल्पलाइन नंबर: 1077, 04142-220700, 231666
सेना, एनडीआरएफ का रिलीफ ऑपरेशन शुरू
– आंध्र प्रदेश कंट्रोल रूम नंबर: 0866-2488000
– तमिलनाडु कंट्रोल रूम नंबर: 044-28593990

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!