बिहार के सभी जिलों में हेलीकाप्टर से पहुचायी जायेगी नयी 500 व 2000 की नोट

बिहार सहित पूरे देश में 8 नवम्बर की रत्री 12 बजे के बाद भारत सरकार द्वारा 500 और 1000 के नोटों को बंद कर दिया गया। जहाँ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 8 नवम्बर शाम 8 बजे देश की जनता को मीडिया के माध्यम से 500 व 1000 के नोट बंदी की घोषणा कर रहे थे, वही दूसरी तरफ बेचारी जनता बे फिक्र होकर एटीएम से 500 व 1000 के नोट निकाल रही थी। जिसको ये भी नहीं पता नहीं था कि 500 व 1000 के नोट मध्य रात्री के बाद मात्र एक कागज के टुकड़े के सामान रह जायेंगे। मोदी सरकार द्वारा पहले से एटीएम मशीनों में 100 के ही नोट क्यों नहीं डाले गए थे, पहले से कोई तैयारी क्यों नहीं थी ये तो वो ही जाने। मगर आम आदमी को अभी बहुत कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। जरुरत की कोई भी सामान नहीं मिल पा रहा है क्योंकि 500 व 1000 के नोट के खुल्ले नहीं मिल रहे है जिससे घंटो भूखो रहना पड़ रहा है। लग रहा है कि बदल गये नोट, बदल गयी सासे। कुछ अफवाहों और कम जानकारी के अभाव में उत्तर प्रदेश के कुशीनगर की तीर्थ राजी, कानपुर की सन्नो खन्ना समेत देश में कितनो की सासे ही थम सी गयी। अब नये नोट, पुरानी मशीन दोनों के बीच फस गया है आदमी। वही नोट पर चोट तो है ही शेयर बाजार में भी गिरावट है।

इस परिस्थिति से निपटने के लिए बिहार सरकार ने भारत सरकार से बात करने के बाद 2 हेलीकाप्टरो को करेंसी लाने के लिए भेज दिया है। कल पटना आरबीआई के पास रुपया पहुचने के साथ बिहार के सभी जिलों में हेलीकाप्टर से नयी 500 व 2000 के करेंसी को पहुचाई जायेगी। इन करेंसियो के बाजार में आने के बाद भी बिना छोटे नोटों का कैसे चलेगा आम जनजीवन। जिससे एशा लग रहा है कि आधी अधूरी तैयारी के साथ देश में संकट सा छा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!