बिहार में शराबबंदी का कानून अटल नहीं, इसमें संशोधन भी किया जाएगा – लालू प्रसाद

शराबबंदी को उस समय झटका लगा जब लालू ने यह ऐलान कर दिया कि बिहार में ताड़ी पीने और बेचने पर प्रतिबंध नहीं रहेगा, बाद में सरकार ने भी लालू के बात को मान लिया. अब राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद ने एक नया बयान दिया हैं उन्होंने शराबबंदी पर कहा है कि बिहार में शराबबंदी का कानून अटल नहीं है. जरूरत पड़ी तो इसमें संशोधन भी किया जाएगा.

लालू के इस बयान के कई नजरिय से देखा जा रहा हैं पहला तो लालू नीतीश के शराबबंदी से खुश नहीं हैं और इसके कानूनों को और सरल बनाने के पक्ष में हैं. लालू प्रसाद को राजनीति में अच्छी पकड़ है और वह ऐसा कोई काम नहीं करना चाहते जिससे जनता में गलत संदेश जाए. और राबड़ी देवी ने भी मीडिया में कई कानून को गलत बताया था, कहा था ये सब कानून मीडिया की उपज है.

हालांकि रविवार को लालू यादव पार्टी के विधायक दल को संबोधित करते हुए पार्टी विधायकों के लिए व्हिप जारी किया कि सदन में शराबबंदी कानून को हर हाल में पारित करवाएं. सरकार कोई प्रस्ताव लाएगी तो उसका समर्थन किया जाएगा. महत्वपूर्ण और गंभीर मुद्दों पर महागठबंधन के तीनों दलों के प्रवक्ता एक साथ अपनी बात रखेंगे. उन्होंने कहा, ‘कार्यकर्ता अपनी शिकायत लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलें. अपनी बात मुझसे भी कह सकते हैं. लेकिन, कोई बात बाहर नहीं जानी चाहिए. राजद के मंत्री सप्ताह में एक दिन पार्टी दफ्तर में भी देंगे. इसके लिए दिन और समय तय किया जा रहा है.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!