भाजपा एमलसी नाबालिक से छेड़छाड़ मामले में , लड़की व उसके पिता ने घटना से किया इंकार

भाजपा के सीवान के निलंबित एमएलसी टुन्ना पांडेय पर लगे छेड़खानी के आरोप में अब एक नया खुलासे से इस मामले की सत्ययता पर ही सवालिया निशान लगते दिख रहे है।तथाकथित पीड़ित लड़की के परिजनों ने कोर्ट में शपथ पत्र दायर कर स्पष्ट लिखा है कि पुलिस हमसे जबरन एमएलसी के खिलाफ आरोप लगवाए। नाबालिग लड़की के पिता ने हाजीपुर न्यायालय के पॉस्को कोर्ट में एक शपथ पत्र दायर किया है, जिसमें लिखा गया है कि लड़की और उसके पिता को एमएलसी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए जीआरपी हाजीपुर द्वारा दबाव बनाया गया था। जिससे मजबूर होकर उन्हें मामला दर्ज कराना पड़ा था।

मामला दर्ज होने पर बीजेपी एमएलसी टुन्नाजी पांडेय को हाजीपुर कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था। लड़की के पिता विजय प्रकाश ने बताया कि बच्ची के साथ कोई छेड़खानी नहीं हुई है। उनके वकील ने बताया कि जीआरपी ने दबाव डाल इन लोगों से एफआईआर करवाया था। लड़की व उसके पिता को जीआरपी पुलिस ने एक कमरे में बंद कर दिया था व लगातार उन्हें केस न करने पर धमकी दी जा रही थी। साथ में जेल भेजने के नाम पर प्रताड़ित भी किया जा रहा था। अधिवक्ता बताया कि हमारे मूवक्किल को लगातार गवाही देने के लिए फोन भी आ रहा था। गौरतलब है कि पूर्वांचल एक्सप्रेस से बीजेपी के एमएलसी टुन्ना पांडेय 23 जुलाई को सफर कर रहे थे। उसी दौरान उनके उपर एक नाबालिग लड़की से छेड़खानी का आरोप लगा था। उसके बाद पार्टी ने त्वरित कार्रवाई करते हुए पार्टी से निकाल दिया था। लेकिन अब इस मामले में आये ट्वीस्ट के बाद देखना होगा की भाजपा अपने एमएलसी के मामले क्या रुख अपनाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!