बिहार के बेटी भावना कांत भारत की पहली महिला फाइटर पायलट

बिहारी फ्लाइंग कैडेट्स भावना कंठ आज वायुसेना के फाइटर प्लेन उड़ाने के लिए कमीशंड हो गई है. आज इंडियन एयरफोर्स के इतिहास में अपना नाम दर्ज करा कर बिहार ही नहीं पुरे देश का नाम रौशन किया. एयरफोर्स में कमीशनिंग के साथ ये पहली वुमन फाइटर प्लेन की पायलट्स बन गई, अब वह फाइटर जेट्स उड़ाएंगी. अब भावना भी भरतीय ऐरफोर्स की तरफ से जंग लड़ सकेंगी. शनिवार सुबह हैदराबाद के हकीमपेट में इनकी पासिंग आउट परेड हुई.

भारत के रक्षा मिनिस्टर मनोहर पर्रिकर खुद इस मौके पर मौजूद थे. अब भारत की महिलाये भी जंग के समय में विरोधियों से मुकाबला करती दिखेंगी. एयरफोर्स चीफ अरुप साहा ने कहा कि इन पायलट्स को महिला होने की कोई रियायत नहीं मिलेगी. उन्हें फोर्स की जरूरत के हिसाब से तैनात किया जाएगा. 2017 में वे पूरी तरह से फाइटर पायलट बन जाएंगी.

दरभंगा जिला अंतर्गत घनश्यामपुर प्रखंड के बाउर गांव की रहने वाली भावना कंठ हैदराबाद स्थित एयरक्राफ्ट एकेडमी में फाइटर प्लेन उड़ाने का प्रशिक्षण लेने के बाद 18 जून को वायुसेना की फाइटर स्ट्रीम में शामिल हो रही हैं. भावना बताती हैं, “बचपन से ही आसमान में उड़ने का सपना देखती थी. हमेशा से चिड़ियों की तरह उड़ना चाहती थी. अब यह सपना पूरा होने जा रहा है.”

10वीं तक की पढाई बेगूसराय जिला अंतर्गत बरौनी रिफाइनरी के डीएवी स्कूल से पूरी की. आगे कि पढाई कोटा विद्या मंदिर स्कूल से किया. कठिन मेहनत का फल मिला और उनका सिलेक्शन बेंगलुरु के बीएमएस कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग में बी.टेक. (इलेक्ट्रॉनिक्स) में हों गया फिर बी.टेक. करने के बाद 2014 में भावना को वायुसेना में शॉर्ट सर्विस कमीशन मिला. फिर, वे पायलट प्रशिक्षण के लिए चुन ली गईं.

भावना कांत के अलावा अवनी चतुर्वेदी जो की मध्य प्रदेश के रीवा से हैं और मोहना सिंह गुजरात के वडोदरा से ट्रेनिंग ले रही है. तीनों पायलट्स की फ्लाइंग ट्रेनिंग हैदराबाद एयरफोर्स एकेडमी में हुई थी. ट्रेनिंग में उन्होंने उड़ान के दौरान आने वाली हर मुश्किलों का सामना करना सीख लिया है.

भावना से जब पूछा गया कि 20 हजार फीट पर पहली सोलो स्पिन फ्लाइंग पर जाने से पहले भावना कांत के दिमाग में भी कई विचार आए थे तो उन्होंने जबाब दिया “मैं डाउट करने लगी कि कहीं एयरक्राफ्ट ने रिस्पांड नहीं किया तो क्या होगा?” “हालांकि, मैं स्पिन के लिए गई. और बतौर पायलट उसे पूरा किया. रिकवरी एक्शन ड्रिल ने हमें उबारा. जैसे ही एयरक्राफ्ट स्पिन से रिकवर हुई वैसे ही मेरा कॉन्फिडेंस भी रिकवर हुआ.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!