अमेरिकी संसद में पीएम मोदी ने कहा, आतंकवाद भारत के पड़ोस में पाला पोसा जा रहा है

अमेरिका दौरे के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को कैपिटल हिल पहुंचे जहां पर उनका स्वागत स्पीकर पॉल रेयान ने पीएम मोदी का औपचारिक स्वागत किया। अमेरिकी कांग्रेस में भाषण के लिए न्यौता मिलना सम्मान करते हुए उन्होंने कहा अपना भाषण शुरू किया। प्रधानमंत्री मोदी अमेरिकी कांग्रेस के संयुक्त सत्र को संबोधित हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि भारत और अमेरिका स्वभाविक मित्र हैं। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा की मानवता के लिए अमेरिका और भारत के सैनिकों ने बलिदान दिया है।

पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा की अमेरिकी संसद में बोलने का मौका मिलना सौभाग्य की बात है। अमेरिका के संविधान का असर आंबेडकर पर भी पड़ा। आज हम दूसरे देशों की तुलना में सबसे ज्यादा व्यापार अमेरिका से करते हैं। अपने भाषण के दौरान उन्होंने कहा की आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत-अमेरिका एक साथ हैं अमेरिका एक वीरों का देश है।

पीएम मोदी ने भारत का किया बखान:

पीएम मोदी ने अपने भाषण के दौरान कहा की आज अमेरिका में 3 करोड़ लोग योग करते हैं, जो योग वो करतें हैं वह भारत की देन है। वहीं आज के समय में अमेरिका में रहने वाले 30 लाख भारतीय दोनों देशों को जोड़ने का काम करते हैं आज अमेरिका में बड़ी-बड़ी कंपनियों के सीईओ, वैज्ञानिक, डॉक्टर्स भारतीय हैं भारत अभी सामाजिक और आर्थिक बदलाव से गुजर रहा है। वहीं भारत के विकास को लेकर पीएम मोदी ने कहा की मजबूत और खुशहाल भारत अमेरिका के हित में है 2022 तक हमारा लक्ष्य आर्थिक रूप से हर भारतीय को आत्मनिर्भर बनाना और भारत के गांव-गांव तक इंटरनेट पहुंचाना है।

आतंकवाद पर मोदी ने कहा:

पीएम मोदी ने आतंकवाद पर कहा की इसका खत्म होना सबसे ज्यादा जरुरी है। आतंकवाद के खिलाफ एक जुट होकर लड़ना होगा। आतंकवाद का गढ़ भारत के पड़ोस में है इन्हें मिलने वाला सहयोग बंद होना जरुरी है। आतंकवाद कहीं लश्कर के नाम से जाना जाता है तो कहीं पर IS के नाम से आतंकवाद हमारे पड़ोस में पाला पोसा जा रहा है। पीएम मोदी ने कहा की आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता, आतंकवाद अच्छा या बुरा नहीं होता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!