ऐसे सवाल न करिए, नहीं तो मैं यहीं आत्महत्या कर लूंगा – सौरभ श्रेष्ठ (साइंस टॉपर)

बिहार बोर्ड की ओर से शुक्रवार को बारहवीं के साइंस और आर्ट्स विषय के पहले सात टॉपर्स की दोबारा परीक्षा ली गई. इस परीक्षा में पॉलिटिकल साइंस को प्रॉडिकल साइंस बताने वाली आर्ट्स टॉपर रूबी राय तो उपस्थित नहीं हुई, लेकिन शेष सभी 13 टॉपर्स ने परीक्षा दी.

बोर्ड कार्यालय के सभागार में 15 सदस्यीय एक्सपर्ट कमेटी ने एक-एक घंटे की लिखित व मौखिक परीक्षा में इन सबकी मेधा की जांच की. इस टेस्ट में ऑब्जेक्टिव सवाल पूछे गए और सब्जेक्टिव सवालों का जवाब लिखवाया गया. इस परीक्षा का परिणाम आज शिक्षा विभाग को सौंपा जाएगा, जिसके बाद इन नतीजों को सार्वजनिक किए जाने की उम्मीद है.

परीक्षा में जब साइंस टॉपर सौरभ श्रेष्ठ से एक जज ने जब सवाल किया कि कैलकुलस के इंटीग्रेशन बाई पार्ट्स का फार्मूला बताइए? इसका जवाब देने की जगह सौरभ ने कहा, ऐसे सवाल न करिए, नहीं तो मैं यहीं आत्महत्या कर लूंगा. उसने कहा कि पिछले तीन-चार दिनों में मुझे काफी मानसिक परेशानी झेलनी पड़ी है. अब मैं जवाब देने की स्थिति में नहीं हूं.

सौरभ की इस बात से विशेषज्ञ भी घबरा गए. सब सन्न रह गए और डर गए कि सच में ये कहीं कुछ कर ही न ले, जिससे बोर्ड की साख पर बट्टा लगे. सबने उसे शांत कराया और तत्काल पानी मंगाकर उसे पिलाया गया. सौरभ की धमकी के बाद इंटरव्यू पैनल ने हिचक के साथ उससे कुछ सवाल पूछे और उसे शांत कराकर बाहर भेज दिया.

कुछ मामूली प्रश्नों का जवाब न दे पाने के बाद इन टॉपर्स को लेकर काफ़ी सवाल उठे जिसके बाद कल इनकी लिखित परीक्षा ली गई. एक्सपर्ट्स की टीम ने इनका इंटरव्यू भी लिया. हालांकि आर्ट्स की टॉपर और पॉलिटिकल साइंस को प्रॉडिकल साइंस बताने वाली रुबी राय बीमारी का हवाला देते हुए इस परीक्षा में शामिल नहीं हुईं.

बोर्ड के अधिकारी इसे बहाना बता रहे हैं और रुबी राय के ख़िलाफ़ उचित कार्रवाई की बात कह रहे हैं. बोर्ड अधिकारियों का कहना है कि मामले की जांच जारी है और जल्द पता लग जाएगा कि आख़िर चूक कहां हुई.

15 विषय विशेषज्ञों में 12 सब्जेक्ट एक्सपर्ट और तीन कदाचार समिति के सदस्य थे. एक पैनल साइंस के टॉपरों की परीक्षा ले रहा था तो एक आर्ट्स के टॉपरों का. एक पैनल कदाचार समिति का था, जो हस्ताक्षर मिलान कर रहा था. हर विद्यार्थी का एक घंटे से ज्यादा समय तक इंटरव्यू लिया गया. 25 से 30 सवाल पूछे गए. इसके बाद प्रश्नों का उत्तर भी लिखने को कहा गया. इंटरव्यू अपराह्न 3:15 बजे से रात 10:30 बजे तक चला.

इन टॉपर्स की परीक्षा और इंटरव्यू के बाद बोर्ड के अध्यक्ष प्रोफेसर लालकेश्वर प्रसाद सिंह ने कहा कि सभी विद्यार्थियों का प्रदर्शन संतोषजनक रहा. कुल 15 विशेषज्ञों की टीम ने एक-एक विद्यार्थियों की मेधा जांची है और फीडबैक से लग रहा है कि बोर्ड ने सही मेधा सूची का निर्माण किया है. सभी टॉपर्स सही हैं.

हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि एक अच्छा लेखक अच्छा वक्ता नहीं हो सकता है. हो सकता है कि टीवी कैमरा देख बच्चे नर्वस हो गए होंगे. सभी विद्यार्थियों का परिणाम शनिवार को शिक्षा विभाग को भेज दिया जाएगा. इसके बाद फाइनल रिजल्ट जारी किया जाएगा कि मेरिट लिस्ट में बदलाव किया जाएगा या नहीं. वहीं, रूबी पर फैसला कानूनी सलाहकार से मशविरा कर लिया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!