बिहार बोर्ड के साइंस, आर्टस व कॉमर्स के टॉपरों के रिजल्ट पर लगी रोक

बिहार बोर्ड के साइंस, आर्टस व कॉमर्स के टॉपरों के रिजल्ट पर रोक लगा दी गई है. विषयों के विशेषज्ञ इसकी जांच करेगी. इंटर साइंस व आर्टस टॉपरों पर बिहार बोर्ड भी असमंजस में है. टॉपरों पर उठ रहे सवाल को गंभीरता से लेते हुए बिहार बोर्ड ने साइंस व आर्टस के पहले पांच टॉपरों का इंटरव्यू लेने का फैसला लिया है. इनकी लिखित परीक्षा भी होगी. जरूरत पड़ने पर कॉपियों का मिलान भी किया जाएगा. मामला तक सामने आया जब एक टीवी चैनल के साथ बातचीत में टॉपर विषयों का सही उच्चरण नहीं कर सके. बोर्ड के अध्यक्ष प्रो. लालकेश्वर प्रसाद ने कहा कि सच्चाई का पता लगाने के लिए यह जरूरी है.

बोर्ड कार्यालय में बोर्ड की कमेटी टॉपरों का साक्षात्कार और लिखित परीक्षा लेगी. इसके बाद कमेटी बोड के नियमों के अनुसार फैसला करेगी. प्रो. प्रसाद ने कहा कि परीक्षा प्रशासन की देखरेख में हुई हैं, इसमें कहां और कैसे गड़बड़ी की गई है इसकी जांच की जा रही है.

कॉपी की हो चुकी है दुबारा जांच

बोर्ड अध्यक्ष ने कहा कि टॉपरों की कॉपियों की कई बार जांच हुई है. वीआर कॉलेज कीरतपुर, वैशाली की परीक्षा जीए इंटर कॉलेज में हुई थी. परीक्षा बाद कॉपियों की सही जगह पर रखने की जिम्मेवारी डीएम की थी. उन्होंने कहा कि बोर्ड को जैसा रिजल्ट प्राप्त हुआ है, उसके आधार पर ही रिजल्ट जारी किया गया है.

एक हफ्ते के अंदर होगी जांच

बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि एक हफ्ते में सभी टॉपरों को बुलाया जाएगा. उनके कॉलेजों व स्कूलों के शिक्षकों को पत्र भेजा जा रहा है. टॉपरों की जारी सूची में पहले ही बता दिया गया है कि टॉपरों की सूची प्रोविजनल है. इसमें बदलाव हो सकता है. स्क्रूटनी के बाद पिछले साल भी कई टॉपर बदले गए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!