गोपालगंज: 15 से 18 साल के आयु वर्ग के लाभार्थियों के टीकाकरण के लिए चलेगा विशेष अभियान

गोपालगंज: कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर टीकाकरण अभियान चल रहा है। अब 15 से 17 वर्ष के किशोर-किशोरियों का टीकाकरण किया जा रहा है। 15+ आयु वर्ग के श्रेणी वाले लाभार्थियों के शत-प्रतिशत टीकाकरण को लेकर स्वास्थ्य विभाग के द्वारा प्रयास किया जा रहा है। इसी कड़ी में यह निर्णय लिया गया है कि जिले में 7, 8,10 और 12 फरवरी को विशेष टीकाकरण सत्र आयोजित किया जायेगा। इस दौरान 15+ आयु वर्ग के श्रेणी वाले लाभार्थियों के टीकाकरण पर विशेष बल दिया जायेगा। 3 जनवरी से 15 से 18 वर्ष के ऊपर के बच्चों का टीकाकरण अभियान शुरू किया गया है। प्रथम डोज का टीका ले चुके बच्चों का दूसरे डोज का भी टीकाकरण करने का अभियान शुरू हो चुका है। विभाग का लक्ष्य है कि मैट्रिक के बच्चों का शत-प्रतिशत टीकाकरण किया जाये।

राज्य स्वास्थ्य समिति के अपर कार्यपालक निदेशक ने निर्देश दिया है कि इंटर परीक्षा के अंतिम दिन जिले परीक्षा केंद्रों पर टीकाकरण केंद्र बनाकर परीक्षार्थियों का टीकाकरण किया जा सकता है। राज्य में 15+ आयु वर्ग के श्रेणी वाले लाभार्थियों का 50 प्रतिशत टीकाकरण हो चुका है। शेष बचे किशोर-किशोरियों के टीकाकरण के लिए विशेष अभियान चलाया जायेगा। किशोर-किशोरियों को शत-प्रतिशत टीकाकरण को लेकर लगातार समीक्षा की जा रही है। स्कूलों में अभियान चलाकर काफी हद तक टीकाकरण हो गया है। जो पढ़ाई छोड़कर घर में हैं या बाहर चले गए, ऐसे किशोर-किशोरियों को चिह्नित किया जा रहा है। घर-घर टीमें जाकर उन्हें वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित कर रही हैं।

सिविल सर्जन डॉ. वीरेंद्र प्रसाद ने बताया कि कोविड टीकाकरण के लक्ष्य को शत-प्रतिशत हासिल करने के लिए वार्ड सभा और आम सभा आयोजित की जायेगी। आम सभा के माध्यम से टीकाकरण के प्रति लोगों को जागरूक किया जायेगा तथा टीकाकरण के फायदे के बारे में जानकारी दी जायेगी। इसके साथ हीं वैसे व्यक्ति जो अब तक किसी कारण से टीका नहीं लिये है, उन्हें टीकाकरण के लिए प्रेरित किया जायेगा। निर्देश के अनुसार कोविड संक्रमण में कमी आने और नये गाइडलाइन के अनुसार आम सभा आयोजित करने पर विचार किया जायेगा।

सर्वे अभियान की सफलता के लिए सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को निर्देशित कर दिया गया है। फिलहाल इस सर्वे में जिले की सभी आंगनबाड़ी सेविकायेँ पूरी गंभीरता से अपनी भूमिका निभा रही हैं। ताकि एक भी वंचित टीकाकरण से ना छूटने पाये। वो अपने –अपने कार्यक्षेत्र में घर –घर घूम कर ना सिर्फ टीकाकरण से वंचित किशोरों की सूची बना रही हैं बल्कि उन्हें टीका लगवाने के लिए प्रेरित भी कर रही हैं। घर – घर जाकर 15 से 18 वर्ष आयुवर्ग के टीकाकरण से वंचित लाभार्थियों का आंगनबाड़ीवार सूची तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं। प्राप्त सूची के अनुसार सूक्ष्म कार्ययोजना तैयार कर उनका टीकाकरण कराने हेतु एक ए.एन.एम. को दो आंगनबाड़ी केन्द्र से संबद्ध करते हुये कोविड 19 के टीका से आच्छादित सुनिश्चित कराने की बात कही गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!