सीवान का कुख्यात रईस खान गिरफ्तार, पहले था शहाबुद्दीन का शूटर

13 मई को सिवान में पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड की जांच में जुटी एसआईटी और एसटीएफ की टीम ने शनिवार को खान ब्रदर्स के नाम से कुख्यात दो भाइयों में से 25 हजार रुपये के इनामी कुख्यात रईस खान को सिसवन थाना अंतर्गत ग्यासपुर स्थित उसके गांव से दबोचा। गिरफ्तारी के दौरान उसके पास से पुलिस ने एक कट्टा और दो ज़िंदा गोलिया भी बरामद किया है। पुलिस को रईस खां की कई बडे आपराधिक मामलों में तलाश थी।उस पर हत्या,अपहरण व रंगदारी के दर्जनों मामले सिवान समेत बिहार के विभिन्न जिलो ,झारखण्ड,उड़ीसा व उत्तर प्रदेश के कई थानों में दर्ज हैं। सूत्रो का दावा है पुलिस ने रईस खां के साथ आफताब मियां नामक एक अन्य गैंगस्टर व उसके तीन साथियों को भी गिरफ्तार किया है। लेकिन पुलिस कप्तान द्वारा की गई पीसी में सिर्फ रइस खा को ही मिडिया के सामने पेश किया गया।

रईस और अयूब दोनों भाई कभी सिवान के बाहुबली पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के मुख्य शूटर के रूप में जाने जाते थे।पिछले एक दशक से रईस शहाबुद्दीन का बागी बन गया है। सीवान में खान ब्रदर्स ग्रुप के नाम से अपना कारोबार करता था। जमीन के काम में रईस की काफी बड़े पैमाने पर दखलअंदाजी रही है। पत्रकार राजदेव रंजन हत्या काण्ड में एसआइटी व एसटीएफ की टीम जिस लड्डन मियां उर्फ़ अज़हरुद्दीम बेग की तलाश कर रही है, वह रईस खां का शागिर्द रहा है।रईस खां के संरक्षण में ही लड्डन मियां ने अपराध की दुनिया में कदम रखा था। लेकिन अभी वह शहाबुद्दीन के लिए काम करता है। सूत्र बताते हैं कि राजदेव रंजन की हत्या मामले में पिछले दिनों गिरफ्तार किए गए पांच अभियुक्तों की निशानदेही पर रईस खां को गिरफ्तार किया गया है। इस गिरफ्तारी को पत्रकार राजदेव रंजन ने हत्याकांड से जोड़कर देखा जा रहा है। वही बताया जा रहा है कि पत्रकार हत्याकांड में रईस का भी कुछन कुछ मतलब सधा  है। हालांकि अभी तक इस बात की अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। पुलिस रईस से पूछताछ कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!