लडक़ी किडनैप, दिल्ली पुलिस ने 6 किमी पीछाकर टाला ‘निर्भया कांड’

पुलिस की सतर्कता और बहादुरी ने देश की राजधानी दिल्ली में बीती शाम एक और निर्भया कांड नहीं होने दिया। पुलिस जवानों ने एक कार का पीछा कर बदमाशों के चंगुल से लडकी को सही सलामत छुडा लिया। आरोपियों ने बुरी नीयत से लडक़ी और उसके दोस्त को लिफ्ट देने के बहाने गाडी में बैठाया था।

बुराड़ी इलाके से युवती को कार में अगवा करने वाले तीनों आरोपियों का आपराधिक रेकॉर्ड मिला है। वारदात के समय तीनों काफी नशे में थे। एक आरोपी ने शराब के ऊपर नशे का इंजेक्शन भी लिया था। जाहिर होता है कि तीनों के इरादे कितने खतरनाक थे। जिन पीसीआर कर्मियों ने बदमाशों को दबोचा और युवती को उनके चंगुल से बचाया, उन्हें पुलिस महकमा पुरस्कृत करेगा।
बुराडी से लिफ्ट के बहाने लडक़ी व उसके दोस्त को उठाया

छुडाई गई लडक़ी के दोस्त की बातों पर यकीन करें तो दिल्ली में एक बार फिर निर्भया कांड जैसी वारदात हो जाने की पूरी आशंका थी। जानकारी के मुताबिक, बाहरी दिल्ली के बुराडी में शुक्रवार देर शाम एक लडक़ा और लडक़ी बस का इंतजार कर रहे थे। उसी दौरान एक सैंट्रो कार में सवार तीन बदमाश आए और दोनों लिफ्ट देकर कार में बिठा लिया। थोडी दूर जानेे के बाद लडक़े और लडक़ी को शक हुआ। विरोध करने पर आरोपियों ने लडक़े का मोबाइल फोन छीनकर उसे कार से बाहर धकेल दिया। किसी तरह खुद को संभालने के बाद लडक़े ने पुलिस पीसीआर वैन को वारदात की सूचना दी।

इसके बाद छह किलोमीटर तक लगातार पीछा करने के बाद कार को पकड लिया गया। पीसीआर ने चंदगीराम अखाड़े से लेकर शाहदरा फ्लाईओवर के लूप तक उनकी कार का पीछा किया। बदमाशों ने पुलिस से भागने की भरसक कोशिश की थी, आखिर में पीसीआर वैन में टक्कर भी मारी। पीसीआर कर्मियों ने बड़ी बहादुरी से न सिर्फ युवती को उनके चंगुल से छुड़ाया, बल्कि तीनों आरोपियों को दबोच लिया। पुलिस ने कार सवार तीनों बदमाशों को गिरफ्तार कर गाड़ी जब्त कर ली।

नॉर्थ दिल्ली के अडिशनल डीसीपी असलम खान ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ शुक्रवार रात सिविल लाइंस थाने में आईपीसी की दफा 365/366 और 392 के तहत किडनैपिंग और लूटपाट का मुकदमा दर्ज किया गया है, लेकिन अब उसमें पीसीआर वैन को जानबूझकर टक्कर मारने से संबंधित दफा भी जोड़ी जाएगी, ताकि पुलिस आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिला सके। यह खौफनाक अपराध था, जो पुलिस कर्मियों की सतर्कता से टल गया।

आरोपियों में शिव विहार का शिव कुमार (32), नेहरू विहार का सौरभ कुमार (35) और जौहरीपुर का सचिन (34) शामिल है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, रातभर चली पूछताछ में 2 आरोपियों के आपराधिक रेकॉर्ड मिले हैं, जिनमें लूटपाट जैसे केस भी हैं। युवती को अगवा करने के समय तीनों काफी नशे में थे।

पुलिस की पीसीआर ने रोकी किडनैपिंग की वारदात।
वारदात कल शाम करीब 7:30 बजे हुई। युवती अपने दोस्त के साथ बस के इंतजार में खड़ी थी लेकिन उन्हें कोई सवारी वाहन नहीं मिल रहा था। ऐसे में सेंट्रो कार में सवार तीनों आरोपियों ने उन्हें बस स्टॉप तक लिफ्ट देने के बहाने बैठा लिया। रिंग रोड पर आरोपियों ने युवती के दोस्त से मोबाइल छीन लिया और कार से धक्का दे दिया। युवती को किडनैप करके ले जाने लगे। उसी दौरान एक पीसीआर वहां से गुजरी। युवक का शोर सुनकर कार का पीछा किया। बदमाशों की सफेद रंग की सेंट्रो कार में शराब की बोतलें और खाने पीने का समान भी बरामद हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!