मोतिहारी के अंचलाधिकारी से अपराधियों ने दस लाख रुपये की रंगदारी मांगी

जिले के नक्सल प्रभावित अंचल चिरैया के अंचलाधिकारी मो. रेयाज शाहिद से अपराधियों ने दस लाख रुपये की रंगदारी मांगी है. रंगदारी की मांग पत्र भेज कर या मोबाईल पर कॉल करके नहीं बल्कि सीओ के सरकारी मोबाईल नंबर 8544412792 पर मैसेज भेज कर मांगी गयी है.

अपराधियों ने मैसेज के जरिये सीओ से रंगदारी मांगने का सिलसिला सोमवार की सुबह 7.03 बजे शुरु हुआ जो रात्रि 9.03 बजे तक जारी रहा. इसी बीच अपराधियों ने सीओ को कुल सात बार मैसेज भेजा है. मुसलमान भाईयों का पर्व शब-ए-रात की खुशी के दौरान रंगदारी की मांग एवं धमकी भरे मैसेज ने अंचलाधिकारी एवं उनके परिजनों को बेचैन कर दिया.

अपराधियों ने अपने पहले मैसेज में लिखा है “आपको अगाह किया जाता है कि एक हफ्ते के भीतर दस लाख रुपये का प्रबंध कर बताये जगह पर पहुंचा देना वरना अंजाम में एके 47 की गोली खाने के लिए तैयार रहो”. दूसरे मैसेज में अपराधियों ने जबाब नहीं देने पर सीओ को गाली देते हुए लिखा है कि क्यूं बे जबाब नहीं दे रहा, जीना नहीं है क्या? अंतिम मैसेज में अपराधियों ने रंगदारी की रकम नहीं मिलने पर बौखला कर लिखा है कि “जल्दी से हमारा काम कर दो वरना अंजाम तेरा लाईफ कभी भी स्वीच अॉफ हो सकती है.

सीओ मो. शाहिद ने आज अपने कार्यालय पहुंचने के बाद चिरैया थाने में रंगदारी एवं एके 47 से उड़ा देने की धमकी मिलने के मामले में अज्ञात अपराधियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. इस बावत पुछे जाने पर चिरैया के थानेदार विजय कुमार यादव ने बताया कि इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है.

सीओ रंगदारी कांड का अनुसंधान वैज्ञानिक तरीके से करके पुलिस बहुत जल्द इस मामले में शामिल अपराधियों को दबोच लेगी. फिलहाल चिरैया सीओ से अपराधियों द्वारा रंगदारी मांगे जाने एवं नहीं देने पर जान मार देने की धमकी दिये जाने से जिले के प्रशासनिक महकमा भयाक्रांत है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!