Mon. Aug 26th, 2019

बेगूसराय जदयू नेता के शह पर बेटा करता था छात्राओं से छेड़खानी

बिहार में जब से महागठबंधन की सरकारबनी है तब से सभी तरह के आपराधिक कुकृत्य करने वालो के हौसले बुलंद है | मामला तो और संगीन तब हो जाता है जब सत्ताधारी पार्टी के नेता ही बेशर्मी की सीमा पार कर जाए | जब बाप के संरक्षण में ही बेटा शान से छेड़खानी पर उतर जाए ??

बेटे कोचिंग में छात्राओं को छेड़ते थे। कोचिंग संचालक इसकी शिकायत लेकर घर पहुंचे तो पिता ने हाथ-पैर तोड़ डालने की धमकी देकर भगा दिया। पिता की शह पाकर बेटों ने फिर छात्राओं से छेड़खानी की तथा विरोध करने पर उन्हें कीचड़ में धकेलकर गिरा दिया।

जब कोचिंग संचालक व छात्र घटना-स्थल पर पहुंचे तो बेटों संग बाप ने भी उनपर हमला कर दिया। घटना जिला के छोड़ाही प्रखंड के एक जदयू नेता रामबदन यादव व उनके बेटों से जुड़ी है।

कोचिंग की छात्राओं के अनुसार उन्हें दो महीने से जदयू नेता रामबदन यादव के पुत्र छेड़ रहे थे। वे कोङ्क्षचग आने-जाने के दौरान अश्लील हरकत कर रहे थे। उनकी शिकायत पर कोचिंग संचालक नेता रामबदन यादव के घर गए।

कोचिंग संचालक ने बताया कि उन्होंने रामबदन राय को उनके बेटों की करतूत की सूचना दी तो वे उखड़ गए। अपने बेटों को समझाने के बदले धौंस देने लगे। कहा कि उनके पुत्रों की जो मर्जी होगी, वही करेंगे। साथ ही छात्राओं व शिक्षक के हाथ-पैर तोडऩे की धमकी देते हुए अपने दरवाजे से भगा दिया।

छात्राओं ने बताया कि वे रविवार को कोचिंग से घर लौटने के क्रम में कीचड़ भरी सड़क के बगल से होकर गुजर रहीं थीं। इतने में वहां जदयू नेता के बेटे आकर छेड़खानी करने लगे। इसका विरोध करने पर उन्होंने कीचड़ में धकेल दिया। जब उन्हें समझाने कोङ्क्षचग संचालक पहुंचे तो जदयू नेता ने अपने परिजनों के साथ मिलकर शिक्षक व छात्र-छात्राओं को पकड़कर पीटा तथा फरसा, ईंट-पत्थर व अन्य धारदार हथियारों से जख्मी कर दिया।

घटना में किसी का हाथ टूटा तो किसी का सिर फूट गया। छात्रों एवं शिक्षकों की चीख-पुकार सुनकर ग्रामीणों ने घटना की सूचना छौड़ाही थाना पुलिस को दी। पुलिस ने घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया।

कोचिंग संचालक ने प्राथमिकी में जदयू नेता रामबदन यादव, पत्नी फुदो देवी, पुत्र रंजन यादव, कुंदन यादव, शंकर उर्फ बौना यादव, पांडव यादव, सचिन यादव समेत 10 लोगों को आरोपी बनाया है। घटना के बाद जदयू नेता फरार बताए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!