राजदेव रंजन हत्याकांड में शहाबुद्दीन के नाम पर राजद में इतनी बेचैनी क्यों

बिहार के सीवान में हुए पत्रकार की हत्या पर बीजेपी आरजेडी नेता शहाबुद्दीन पर आरोप लगा रही है, बिहार पुलिस मामले की जांच कर रही है, और शहाबुद्दीन से तार जोड़ने की कोशिश कर रही है, अब RJD नेता और लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव का शहाबुद्दीन को साथ मिला है, डिप्टी सीएम तेजस्वी ने कहा कि बिना जांच के किसी पर भी आरोप लगाना ठीक नहीं है।

पत्रकार हत्याकांड में बाहुबली नेता और पूर्व आरजेडी सांसद मो. शहाबुद्दीन का नाम आने के बाद आरजेडी के सिर पर साफ तनाव देखा जा सकता है। विदित हो कि कुछ दिन पहले ही आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने शहाबुद्दीन को राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शामिल किया था, उनसे जेल में जाकर मुलाकात भी किया था। डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने शहाबुद्दीन का बचाव करते हुए कहा कि पुलिस मामले में जांच कर रही है, और बिना जांच किए किसी पर भी आरोप लगाना ठीक नहीं है।

तेजस्वी यादव ने कहा कि जांच हो जाने दीजिए, जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। तेजस्वी यादव ने कहा कि बीजेपी वाले जज बन गए है, एक व्यक्ति का नाम लेकर फैसला सुना रहे है। मामले में जांच जारी है। विदित हो कि सजायाफ्ता कैदी मो. शहाबुद्दीन को लालू प्रसाद यादव ने आरजेडी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शामिल कर ये संकेत दे दिए है कि वो जल्द ही प्रदेश की मुख्यधारा की राजनीति में सक्रिय हो जाएंगे।

गौरतलब है कि तेजस्वी ने इससे पहले गया में रोडरेज मामले में हुए 12वीं के छात्र आदित्य सचदेवा के मौत की तुलना पठानकोट एयरबेस हमले से किया था, जिसके बाद काफी आलोचना होने के बाद उन्होने मामले पर सफाई देते हुए कहा कि उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया, उनके बयान का गलत संदर्भ निकाला गया, पूरे देश में अपराध की घटनाएं हो रही है लेकिन बिहार की घटनाओें को बढ़ा-चढ़ा कर प्रचारित- प्रसारित किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!