Mon. Aug 26th, 2019

आदित्य राज का हत्यारा राकेश रंजन यादव उर्फ़ रॉकी गिरफ्तार

आखिरकार पकड़ा लिया गया पुरे सुबे को दहलाने वाले आदित्य राज निर्मम हत्याकांड का मुख्य आरोपी रॉकी उर्फ़ राकेश रंजन यादव। इस सनकी और मनबढु युवक की गिरफ्तारी की पुष्टि गया की एसएसपी गरिमा मल्लिक ने भी कर दी है। वही सूत्रो का कहना है की रॉकी की गिरफ्तारी में पारिवारिक और सियासी दबाव की महती भूमिका रही है। वही सियासी सूत्रो का कहना है कि सियासत के धुरंधरों द्वारा प्रयोजित आत्मसमर्पण है जिससे गया पुलिस गिरफ्तारी का नाम दे रही है। अपने तर्क को मजबूती देने के लिए जदयू विधान पार्षद का दो पहर के बयान का हवाला दे रहे है। सनद रहे कि जदयू एमएलसी ने भी कहा था कि वो कोशिश करेंगी की रॉकी पुलिस के समक्ष सरेंडर कर दे।

वही दूसरी तरफ गया पुलिस के भी अपने दावे है। पुलिस का दावा है बिंदी यादव के परिजनों व निकट रिश्तेदारो और रॉकी के दोस्तों बनाये गए दवाब ही कारगर सिद्ध हुआ है। साथ ही पुलिस ने बीती रात जदयू विधानपार्षद मनोरम देवी के आवास पर छापेमारी कर उनसे लगातार पूछताछ करती रही। उनकी निशानदेही पर छापेमारी कर मंगलवार की अहले सुबह रॉकी को बोधगया रोड स्थित बिंदी यादवी की ही हॉट मिक्सिंग प्लांट से एसआईटी ने गिरफ्तार किया। यहाँ वो पिछले 48 घंटे की भागमभाग के बाद चैन की नींद ले रहा था। रॉकी की गिरफ्तारी की पुष्टि हो गई है।

पर गया पुलिस द्वारा उसे कहा रखा गया है इस सवाल का जवाब देने से कतरा रही है। वरीय अधिकारी गिरफ्तार रॉकी से लगातार पूछताछ कर रहे ताकि हत्या काण्ड में यूज की गई लाइसेंसी पिस्टल को भी बरामद किया जा सके। साथ ही पुलिस ये भी जानने की कवायद कर रही है की आखिर घटना वाली रात हुआ क्या था? महज एक छोटी सी घटना खूंरेज़ी में कैसे बदल गई? वही घटना के वक्त और कौन कौन लैंड रोवर में मौजूद था।

पुलिस सूत्रो का कहना है कि गया पुलिस हथियार की बरामदगी के बाद प्रेस कांफेरेंस का आयोजन कर पुरे मामले से पर्दा उठाएगी। एसएसपी गरिमा मल्लिक संभवतः सुबह 9 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करके विस्तृत जानकारी देंगी। रॉकी यादव की गिरप्तारी के लिए सिटी एसपी अवकाश कुमार के नेतृत्व एसआईटी गठित कर डीएसपी आलोक कुमार के साथ कई थानों के प्रभारी लगातार छापेमारी कर रहे थे।

सनद रहे कि शनिवार 7 मई को रात्रि करीब 20:30 बजे केन्द्रीय कारा गया के निकट आदित्य राज की हत्या कर दी गयी थी। हत्या का आरोप जद यू विधान पार्षद श्रीमती मनोरमा देवी के पुत्र राकेश रंजन यादव उर्फ़ रॉकी यादव,पार्षद के सरकारी अंगरक्षक आरक्षी सख्या 1670 राजेश कुमार एवं अन्य पर लगाया गया था। हत्या का कारण गाड़ी को ओवर टेक करना बताया जा रहा है। अब तक पुलिस ने अभियुक्तों की गाड़ी रेंज रोवर को भी जप्त कर स्थानीय पुलिस अनुसंधान कर रही है। इस हत्या कांड में नगर पुलिस अधीक्षक गया के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया है। साथ ही एफएस एल की टीम को वैज्ञानिक साक्ष्य एकत्रित करने हेतु लगाया गया। पटना जोनल आईजी नैयर हैसनैंन खान गया में कैंप कर कांड के अनुसधान की मोनिटरिंग कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!