Mon. Aug 26th, 2019

सिनेमाघरों में फ़िल्म से पहले दिखाई जायेगी मोदी सरकार की 2 साल का लेखा जोखा

आगामी 26 मई को मोदी सरकार अपने दो साल का कार्यकाल पूरा करने वाली है।इस बाबत सारी तैयारिया कर ली गई है।बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री अपने दो साल की उपलब्धियों को लेकर जनता के बीच जाना चाहते है। वो उन्हें बताना चाहते है कि हमने क्या वादे किए थे। अब उन वायदों को पूरा करने खातिर दो साल में हम कहां तक पहुंचे है। सीधे आम लोगों तक अपनी उपलब्धियों और वायदों के पूरा करने की दिशा में किये जा रहे प्रयासो को पहुचाने के बाबत मोदी सरकार ने नई तरकीब निकाली है।अब सिनेमाघरों में फिल्म दिखाने से पहले मोदी सरकार की दो साल की उपलब्धियां दिखाई जाएगी।

मोदी सरकार ने अपनी उपलब्धियों को राज्यों और जिलों में पहुंचाने के लिए एक मंत्री समूह भी गठित किया है। इसी मंत्री समूह ने ये सुझाव दिया है कि सिनेमाघरों में सिनेमा शुरु होने से पहले अपने उपलब्धियों का बखान किया जाए। केन्द्रीय संसदीय कार्य मंत्री वेकैंया नायडू की अगुवाई में इस मंत्री समूह का गठन किया गया है। नायडू ने इसके लिए एक फिल्म एनिमेशन फिल्म बनवाई है जो कि पिछली और अभी की सरकार के बीच फर्क बताएगा, साथ ही केन्द्र के कामों का श्रेय राज्य सरकार ले रही है, उसके बारे में भी वो लोगों को अवगत कराएंगे।

इस एनिमेशन क्लिप में पिछली यूपीए सरकार और अभी की सरकार के फर्क को मनोरंजक तरीके से बताया जाएगा। साथ ही इस योजना को लागू कराने के लिए सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को शामिल करने की भी बात कही गई है। इस मंत्री समूह ने ये भी सुझाव दिया है कि राज्यों द्वारा केन्द्र के कामों का श्रेय लेने से बचने के लिए उन्होने कहा है कि केन्द्रीय योजनाओं का उद्घाटन केन्द्रीय मंत्री और सांसद की उपस्थिति में हो, ताकि लोगों को पता चल सकें कि इस योजना में केन्द्र सरकार की क्या भूमिका है।

उल्लेखनीय है कि मोदी सरकार के एक साल पूरे होने पर किसी भी तरह का आयोजन या समारोह नहीं आयोजित किया गया था।लेकिन दो साल पूरे होने के मौके पर वो पूरी तरह से आक्रामक है। मोदी खुद सारी परियोजनाओं की समीक्षा कर रहे है। बताया जा रहा है कि पीएमओ की तरफ से सभी मंत्रालयों को कहा गया है कि वो अपनी-अपनी कम से कम दो उपलब्धियों को लेकर जनता के बीच जाएं और उन्हें बताए कि उन्होने क्या काम किया है। साथ ही सभी मंत्रियों को अपने-अपने विभागों के बारे में रेडियो-टीवी और अखबारों के माध्यम से अपने मंत्रालय का बखान करने के लिए भी कहा गया है।

इन सारी कवायदों का मकसद अपने समर्थको और देशवासियों को केंद्रसरकार की उपलब्धियों से अवगत करना ही नहीं बल्कि मोदी सरकार को पूर्वती सरकारो से बेहतर और जवाबदेह दिखाना भी है। ताकि 2019 में बजने वाली रणभेदि खातिर पहले से ही चुनावी पिच को अपने अनुकूल बना लेने का गुप्त एजेंडा भी शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!