अप्रैल में आग का कहर : 23 जिले, 11 लोगों के साथ 3722 आशियाने बने शिकार

अप्रैल में गर्मी के साथ ही बिहार में अगलगी की घटनाओं में भी लगातार इजाफा हो रहा है. अब तक बिहार के 23 जिले आग की बड़ी तबाही के शिकार हुए हैं. अगलगी की घटनाओं का ये सिलसिला अभी भी रुकता नहीं दिख रहा है. आपदा प्रबंधन विभाग ने बिहार में अग्निकांड की घटना के जो आधिकारिक आंकड़े जारी किये हैं उसके मुताबिक अग्निकांड से कुल 11 व्यक्तियों की अब तक मौत हो चुकी है.

इसके साथ-साथ 33 पशुओं के मौत होने की भी पुष्टि हुई है. अगलगी की इन घटनाओं में 3722 घर जले हैं जबकि फसलों और खेतों में लगी आग का कोई स्पष्ट आंकड़ा भी अब तक नहीं प्राप्त हो सका है.

आपदा प्रबंधन मंत्री चन्द्रशेखर ने बताया कि अग्निकाण्ड की बढ़ती घटनाओं को देख आपदा विभाग ने हेल्प लाइन नंबर जारी किया है. लोग अग्निकांड की शिकायकत इन नंबरों पर कर सकते हैं. 0612…2217301, 2217302, 217303, 2217304, 2217305, 2217306, 2215731,2215735, 2215739. आपदा प्रबंधन के प्रधान सचिव व्यास जी ने बताया कि बिहार में पिछले काई सालो में इस साल की भयानक गर्मी के कारण सबसे ज्यादा अगलगी के मामले सामने आ रहे हैं.

राज्य के अग्निकांड पीड़ित परिवारों को सरकार की ओर से तत्काल 9800 रुपए का अनुदान दिया जा रहा है जबकि सभी जिला में फायर ब्रिगेड को अलर्ट पर रखा गया है. डीजी फायर सर्विसेस पीएन राय ने बताया की आग से बचाव और आग लगने के बाद क्या करें क्या न करें इस पर भी लोगों के बीच जागरूकता फैलाई जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!