गोपालगंज के 4 मजदूरो की यूपी में सडक हादसे में दर्दनाक मौत, बाप-बेटे और ससुर-दामाद शामिल

गोपालगंज: पुरे देश में कोरोना को लेकर लॉक डाउन है. लॉक डाउन के बावजूद बिहार के बाहर दूसरे राज्यों से लगातार मजदूरो के अपने वापसी का सिलसिला जारी है. वही वापसी के दौरान यूपी के मुज़फ्फरनगर में बिहार के 6 मजदूरो की सडक हादसे में दर्दनाक मौत हो गयी. जबकि 4 लोग गंभीर रूप से घायल है. इस हादसे में मरने वाले 4 और घायलों में 4 लोग गोपालगंज के रहने वाले है. जिसमे पिता-पुत्र और ससुर-दामाद  की हादसे की दौरान मौत हो गयी. वे सभी अपने घर के कर्ज को भरने के लिए 5 माह पहले ही हरियाणा के प्लाई कम्पनी में काम करने गए हुए थे.

मृतक 40 वर्षीय हरीश सहनी श्रीपुर ओपी के दुलारपुर नौका टोला के रहने वाले थे. हरीश सहनी अपने दो बेटे और 3 अन्य रिश्तेदारों के साथ हरियाणा के प्लाई फैक्ट्री में 5 माह पूर्व ही काम करने गए थे. घर में कर्ज ज्यादा हो गया था और वे अपने गाँव एक अन्य लोगो से कर्ज लेकर हरियाणा में मजदूरी कर रहे थे.

मृतक हरीश सहनी की पत्नी सीमा देवी के मुताबिक वहा लॉक डाउन के बाद से ही काम बंद हो गया था. वे खाने खाने को मोहताज हो गए थे.
जब उनके पास कोई चारा नहीं बचा तो इस परिवार के सभी सदस्य करीब 6 लोग और गोपालगंज के अन्य 2 लोग पैदल ही हरियाणा से गोपालगंज के लिए चल दिए. पैदल चलने वालो में उनके 2 बेटे 22 वर्षीय विकास सहनी और 18 वर्षीय अकाम सहनी उनके पति हरेश सहनी शामिल थे. वे जैसे ही सहारनपुर के मुज़फ्फरनगर में पहुचे. तभी वे रोडवेज बस के चपेट में आ गए. इस भीषण हादसे में जिन 6 लोगो की मौत हो गयी. उसमे हरेश सहनी और उनके बेटे विकास सहनी की मौके पर ही मौत हो गयी. जबकि उनका दूसरा बेटा अकाम सहनी, पडोसी 45 वर्षीय पहवारी सहनी उनके 15 वर्षीय बेटे प्रमोद सहनी और विपिन सहनी भी गंभीर रूप से घायल हो गए. सभी घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

वहीं मांझागढ़ के शेखटोली के रहने वाले 40 वर्षीय बासदेव पटेल और इनके ससुर 50 वर्षीय हरेश पटेल की भी इस सडक दुर्घटना में मौत हो गयी. ससुर-दामाद एक साथ 6 माह पूर्व हरियाणा अपने परिवार के परवरिश के लिए मजदूरी करने गए थे.

मृतक हरेश पटेल की माँ खेदनी कुंवर के मुताबिक उनके दो नाती और एक बेटा कर्ज चुकाने के लिए हरियाणा गए थे. लेकिन हादसे के शिकार हो गए. अब उनके घर का कर्ज कैसे चुकता होगा. इस परिवार के दो कमाऊ सदस्य की मौत हो गयी. जबकि एक की हालत गंभीर है.
इस भीषण सडक हादसे में बरौली के खजुरी निवासी हरेश पटेल की भी मौत हो गयी है. जबकि उनके दामाद बासदेव पटेल भी इसी हादसे के शिकार हुए.

घटना की सुचना मिलते ही घर में कोहराम मच गया है. एक ही परिवार के ससुर और दामाद की इस मौत ने गाँव के लोगो को सदमे में दाल दिया है. कोरोना काल की इस दर्दनाक हादसे से सबकी आँखे नम है और देखते ही देखते गोपालगंज के चार लोगो की मौत हो गयी. जबकि चार लोग अभी भी जिन्दगी और मौत से जूझ रहे है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected By Awaaz Times !!