गोपालगंज: 12वें दिन भी शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले नियोजित शिक्षकों ने दिया धरना

गोपालगंज के उचकागांव में हड़ताल के 12वें दिन बिहार शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले नियोजित शिक्षकों द्वारा उचकागांव प्रखंड मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन किया गया।

इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रखंड अध्यक्ष दीपक कुमार सिंह ने कहा कि जहां एक तरफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा अपने विधायकों का वेतन बढ़ाते हुए एक लाख अस्सी हजार रुपए कर दिए हैं। वहीं दूसरी तरफ एक ही विद्यालय में पढ़ाने वाले एक शिक्षक का तनख्वाह एक लाख तो वहीं दूसरे शिक्षकों का तनख्वाह पंद्रह हजार और बीस हजार रुपए के आसपास है। ऐसी हिटलर शाही अंग्रेजों के शासन में भी नहीं चलती थी। जब तक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नियोजित शिक्षकों के समान काम समान वेतन और सरकारी कर्मी का दर्जा सहित 11 सूत्री मांगों को पूरा नहीं करेंगे नियोजित शिक्षक हड़ताल पर डटे रहेंगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि यदि मुख्यमंत्री अपने विधायकों का वेतन भी घटाकर बीस हजार रुपए कर देंगे तो नियोजित शिक्षक दस हजार रुपए पर ही पढ़ाने को राजी हो जाएंगे और यह हड़ताल अपना वापस ले लेंगे।

वहीं दूसरी तरफ शिक्षक रामविनोद सिंह ने कहा कि सरकारी विद्यालयों में गरीबों के बच्चे पढ़ने जाते हैं जबकि अमीरों के बच्चे प्राइवेट स्कूलों में पढ़ते हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने आप को गरीब हितैषी साबित करते हैं। जबकि शिक्षकों द्वारा 12 दिन से हड़ताल पर जाने के कारण 12 दिनों से गरीब परिवार के बच्चों की पढ़ाई बाधित चल रही है। इसके बावजूद भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा गरीब परिवार के बच्चों के हित में कोई कारगर उपाय नहीं किया जा रहा है।

मौके पर परिवर्तनकारी शिक्षक संघ के जिला प्रवक्ता राजन राय, प्रियदर्शी धनेश यादव, मनोज यादव, कमलेश कुशवाहा, वशिष्ठ प्रसाद, संजय कुमार पटेल, विजय कुमार यादव सहित काफी संख्या में शिक्षक मौके पर उपस्थित थे।

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!