ताजमहल अब नहीं रह जाएगा ‘दुनिया का सातवां अजूबा’ ?

अमर प्रेम की निशानी और ‘दुनिया का सातवां अजूबा’ मानी जाने वाली आगरा के ताजमहल की खूबसूरती को निहारने, उसके दीदार करने और उसके साथ अपनी एक यादगार तस्वीर खिंचवाने के लिए दूर-दूर से लोग यहां पहुंचते हैं।अब तक दुनियाभर के कई बेहद चर्चित और खास व्यक्तित्व भी इसके दीदार का ख्वाब लिए यहां तक पहुंचे हैं। 16 अप्रैल को प्रिंस विलियम पत्नी केट मिडिलटन के साथ इसकी खूबसूरती का दीदार करने पहुंचने वाले हैं लेकिन मीडिया की इस खबर ने सबको चौंका दिया है कि ताजमहल की चार मीनारों में से एक गुंबद की इमारत गिर चुकी है।

खबर है कि ताजमहल की चार मीनारों में से एक का गुंबद सोमवार को मरम्मत कार्य के दौरान गिर गया। प्रत्यक्षदर्शियों ने यह जानकारी दी। वही दूसरी तरफ अधिकारियों का कहना है कि गुंबद की कमजोर स्थिति के कारण उसे निकाला गया है।भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के अधीक्षण पुरातत्वविद् भुवन विक्रम सिंह ने बताया कि मीनार का गुंबद गिरा नहीं, बल्कि कमजोर स्थिति कारण उसे निकाला गया है. एएसआई सुपरिंटेंडेंट भुवन विक्रम ने ताजमहल की इमारत गिरने की बात को गलत और कोरी अफवाह बताया है। उनके मुताबिक फिलहाल इमारत की कैमिकल सफाई की जा रही है। कई बार बंदरों की हुड़दंगबाजी की वजह से भी इमारत को नुकसान पहुंचा है लेकिन मंगलवार तक सब ठीक हो जाएगा।

गौरतलब है कि पिछले कुछ माह से ताजमहल के सफेद संगमरमर के पत्थरों की सफाई का काम चल रहा है। ताजमहल के मीनारों पर लगी धूल-मिट्टी और काई की परतें इसकी सुंदरता को खराब कर रही थीं, जिसके कारण इसकी सफाई की जा रही है। प्रत्येक दिन हजारों लोग इस सुंदर ऐतिहासिक इमारत को देखने आगरा पहुंचते हैं।

taj-gumbaj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!