गोपालगंज: रोजगार के लिए विदेश गए युवक की मौत, शव मंगाने के लिए दर-दर की ठोकरे खा रहे मां-बाप

गोपालगंज में एक युवक ने रोजगार नही मिलने पर निराष होकर विदेश में नौकरी करने के लिए अपना देश छोडा। लेकिन उसे यह एहसास नही था कि हमेशा के लिए वे दुनिया को छोड कर चला जाएगा। वही अपने पिछे एकलौता का एहसास कराते हुए अपने माता पिता को कर्ज में डुबो देगा तथा उनके सपने को तोड देगा।

एकलौते पुत्र से बेगाने हुए उनके माता पिता इन दिनो उसके चेहरे देखने की बाते कौन करे बल्कि उसके शव को मिट्टी लगाने की आस में विदेश से अपने स्वदेश में लाने के लिए पिछले कई दिनो से समाहरणालय में साहेब से मिलने के लिए दर दर की ठोकरे खा रहे है। लेकिन उन्हे साहेब मिल नही पा रहे है। आये दिन आंखो से टपकते आंसू और तडपते दिल को लेकर पुनः घर वापस लौट जाते है। यह कहानी नही बल्कि हकिकत चरित्रार्थ है।

बता दे कि कटेया थाना के बनकटिया गांव के 21 वर्षीय युवक आजाद मोहम्मद पिछले 21 अक्टुबर को रोजगार करने के लिए सउदी के जुबैल अकिक नासी अलहाजरी में फिटर बन कर गये थे। जहाॅ पर पिछले 4 नवम्बर को पानी टंकी के पाईप फट जाने के कारण दुनीया को छोड गया। जहाॅ से उसके शव को अपने वतन मंगाने के लिए मृत युवक के पिता हदीस मिया और उसकी माॅ हसबुन नशा आये दिन समाहरणालय में जिलाधिकारी अरशद अजीज से मिलकर गुहार लगाने के लिए आ रहे है। यह संयोग ही कहा जाएगा कि जब वे आते है उस समय साहब कार्यालय में नही होते। नतीजा यह होता है कि ये माँ-बाप रोते बिलखते पुनः अपने घर लौट जाते है। इनकी एक स्वप्न है कि अपने एकलौते पुत्र को अपने वतन में मिट्टी दे सके। इनके टूटे स्वप्न कब तक पुरा होगा यह तो आने वाला भविष्य ही निर्धारित करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!