गोपालगंज में गंडक के जलस्तर में लगातार कमी, बाढ़ प्रभावित इलाको में भी बाढ़ के पानी में आई कम

गोपालगंज में गंडक के जलस्तर में लगातार कमी के बाद अब गंडक के निचले इलाको में भी पानी की लगातार कमी हो रही है। जिसकी वजह से सदर प्रखंड और मांझागढ़ के बाढ़ प्रभावित इलाको में भी बाढ़ का पानी कम हो गया है। हालांकि लोगो के घरो में पानी अब नहीं है। लेकिन करीब एक दर्जन गांवो में जाने वाली सडक और पुलिया कई दिनों से पानी में डूबी हुई है। जिसकी वजह से लोगो को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

कल वरीय उपसमाहर्ता पिंकी कुमारी सहित सदर बीडीओ पंकज कुमार शक्तिधर, सदर सीओ विजय कुमार सिंह ने सदर प्रखंड के बाढ़ प्रभावित इलाको का निरिक्षण किया। सदर प्रखंड के जगरीटोला, खैरटिया, रामनगर, मकसूदपुर जैसे करीब एक दर्जन गाँव पिछले दो सप्ताह से बाढ़ से घिरे हुए है। इन गांवो में जाने वाला रास्ता पूरी तरह बंद है। जिला प्रशासन के द्वारा नाव की वयवस्था की गयी है। जगरीटोला के तीन वार्ड कई दिनों पानी से घिरा हुआ है।

ग्रामीण कमलनाथ यादव के मुताबिक घर में रखी सफल अनाज ख़राब हो गया है। कुछ अनाज बचा हुआ था। जो ख़तम हो गया है। अब वे रोज दूध बेचकर जो पैसे मिलते है। उस पैसे से अनाज खरीद कर अपने घर वापस लौट रहे है। जिला प्रशासन के द्वारा एक नाव की वयवस्था की गयी थी। वह भी पानी में डूब गयी है। इसलिए उन्हें कई किम्लोमीटर पानी में चलकर ही अपने गांव से जिला मुख्यालय जाना पड़ता है।

हालांकि सदर सीओ विजय कुमार सिंह के मुताबिक सदर प्रखंड के तीन पंचायतो में बाढ़ का पानी घुस गया था। तीन दिनों पूर्व गंडक में सवा दो लाख क्यूसेक से ज्यादा पानी छोड़ा गया था। जिसकी वजह से गंडक के निचले इलाको में बाढ़ जैसा हालात है। लेकिन अब गंडक का डिशचार्ज करीब 86 हजार क्यूसेक है। जिसकी वजह से गंडक का जलस्तर करीब 03 फीट कम हो गया है। सदर प्रखंड के निचला इलाका अभी वाटर लॉगिंग से प्रभावित है। यहाँ किसी भी इलाके में बाढ़ नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!