Fri. Aug 23rd, 2019

गोपालगंज के मांझा में नल-जल योजना में गबन मामले में वार्ड सदस्य व वार्ड सचिव पर प्राथमिकी दर्ज

गोपालगंज के मांझा प्रखंड की मांझा पूर्वी पंचायत के सुदासाह के टोला गांव में नल-जल योजना में गबन के मामले में वार्ड सदस्य व वार्ड सचिव पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। प्राथमिकी डीएम के आदेश पर बीडीओ अजीत कुमार ने दर्ज कराई है। मामले में मुखिया व पंचायत सचिव की भूमिका की भी जांच कराई जा रही है।

बताया जा रहा है कि मांझा पूर्वी पंचायत के वार्ड संख्या 9 में हर घर नल का जल योजना के लिए 14 लाख रुपए की राशि की मंजूरी दी गई थी। जिसमें से करीब 8 लाख रुपए खर्च भी किए जा चुके हैं। लेकिन योजना का काम बेहद घटिया स्तर कराया गया है। पाइप को तीन की जगह डेढ़ फुट की गहराई में ही लगाया गया है। वार्ड में मुख्यमंत्री नली गली पक्कीकरण योजना में 9 सौ फुट में पीसीसी निर्माण के लिए करीब 12 लाख की राशि की प्रशासनिक स्वीकृति दी गई थी। लेकिन निर्माण एस्टीमेट के अनुसार नहीं कराया गया है। इसी पंचायत के वार्ड संख्या 10 में हर घर नल का जल योजना के तहत करीब 11 लाख की राशि की मंजूरी दी गई थी। जिसमें से करीब साढ़े 7 लाख की राशि खर्च किए जाने के बाद भी निर्माण कार्य अधूरा है। इस वार्ड में पीसीसी सड़क निर्माण के लिए 9 सौ फुट सड़क बनाने के लिए 11 लाख 76 हजार की राशि से मानक के अनुसार कार्य नहीं कराया गया है। योजनाओं में गड़बड़ी को लेकर गांव के कन्हैया प्रसाद ने लोक शिकायत निवारण अधिनियम के तहत शिकायत दर्ज कराई थी। इसके बाद संबंधित विभाग के कार्यपालक अभियंता ने इसकी जांच कर डीएम को रिपोर्ट सौंपी थी। जांच में मिली अनिमितताएंखर्च की गई राशि का बिल नहीं पाया गयाखरीदी गई समाग्रियों का ब्योरा नहीं मिला योजना क्रय पंजी को भी अपडेट नहीं पाया गया योजना की फाइल में योजना संख्या थी नदारदइन लोगों को किया गया आरोपितवार्ड संख्या 9 के सदस्य, क्रियान्वयन समिति के अध्यक्ष बादशाह प्रसाद, सचिव विनोद कुमार, वार्ड संख्या 10 के सदस्य हरेंद्र प्रसाद व सचिव ऋषिरंजन कुमार पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। वहीं मुखिया व पंचायत सचिव की संलिप्तता की भी जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!