गोपालगंज में महावीरी अखाड़ा जुलूस को देखते हुए प्रशासनिक स्तर पर शांति समिति की हुई बैठक

गोपालगंज में महावीरी अखाड़ा मेला को लेकर शहर में बुधवार को हाथी- घोड़े तथा बैंड बाजे के साथ जुलूस निकाला जाएगा। जुलूस के अगले दिन गुरुवार को शहर में महावीरी अखाड़ा मेला का आयोजन किया जाएगा। रक्षाबंधन के दिन पिछले कई सालों से शहर में महावीरी अखाड़ा मेला का आयोजन करने की परंपरा चली आ रही है। इस बार महावीरी अखाड़ा जुलूस तथा अखाड़ा मेला को लेकर शहरी क्षेत्र में सुरक्षा की तगड़ी व्यवस्था रहेगी। जिला प्रशासन ने शहर के चौक-चौराहों पर सुरक्षा बल के अतिरिक्त जवान तैनात करने का निर्देश दिया है।

जिला मुख्यालय में वर्षों से रक्षाबंधन के दिन महावीरी अखाड़ा मेला आयोजित होता आ रहा है। मेला के एक दिन पूर्व तमाम अखाड़ा समिति की ओर से हाथी-घोड़े के साथ भव्य जुलूस निकाला जाता है। इस जुलूस में भगवान हनुमान की प्रतिमा के साथ उत्साही युवक व श्रद्धालु परंपरागत हथियारों के साथ शौर्य का प्रदर्शन करते हैं।

अखाड़ा समिति के सदस्यों ने बताया कि बुधवार की रात्रि जुलूस का आयोजन किया जाएगा। जिसमें 30 से 35 अखाड़ा समिति भाग लेंगी। जुलूस के अगले दिन गुरुवार को महावीरी अखाड़ा मेला का आयोजन किया जाएगा। जुलूस व मेला को देखते हुए प्रशासनिक स्तर पर नगर थाना के अलावा आसपास के सीमावर्ती थानों को भी चौकस रहने का निर्देश जारी किया है। ताकि मेले के दौरान हरेक इलाके में शांति व्यवस्था कायम रह सके। इसके लिए जिला मुख्यालय में अग्निशमन विभाग को भी अपने वाहन के साथ सतर्क रहने को कहा गया है। शांति समिति की हो चुकी है बैठक

महावीरी अखाड़ा जुलूस व मेला को देखते हुए प्रशासनिक स्तर पर पूर्व में ही शांति समिति की बैठक आयोजित की जा चुकी है। जिसमें तमाम पूजा समितियों को निर्धारित मार्ग से ही अखाड़ा का जुलूस निकालने का निर्देश दिया गया है। रूट में परिवर्तन नहीं करने की हिदायत सभी अखाड़ा समितियों को पूर्व में भी दिया जा चुका है। ताकि मेला व जुलूस के दौरान अव्यवस्था की स्थिति पैदा नहीं हो। हुड़दंग करने वालों पर रहेगी नजर

मेला व जुलूस के दौरान हुड़दंग करने वालों पर प्रशासनिक स्तर पर विशेष नजर रखी जाएगी। अलावा इसके मस्जिद व ईदगाहों की ओर जाने वाले तमाम मार्ग पर अधिक संख्या में जवानों को तैनात किया गया है। जिला प्रशासन ने पर्व के दौरान सोशल मीडिया पर भी नजर रखने का निर्देश जारी किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!