गोपालगंज मे गंडक के जलस्तर मे लगातार आ रही है कमी, लोगो को बाढ़ से डरने की जरूरत नहीं

गोपालगंज मे गंडक के जलस्तर मे लगातार कमी आ रही है। वही गंडक के जलस्तर मे कमी का असर अब तटबंधो पर दिखने लगा है। यहा तटबंधो पर दबाव कम हो गया है। जल संसाधन विभाग के अधिकारी लगातार गंडक के जलस्तर पर निगरानी बनाए हुए है। जबकि जल संसाधन विभाग के अधिकारिओ के मुताबिक अब जिले के लोगो को बाढ़ से डरने की कोई जरूरत नहीं है। यहा के सभी तटबंध फिलहाल सुरक्षित है।

दरअसल जिले के सदर प्रखण्ड के पतहरा, मसानथाना , मेहंदीया सहित आधा दर्जन गाँवो के लोग तटबंधो के किनारे बसे हुए है। ग्रामीण लगातार बारिश और वलिमिकीनगर बराज से पानी छोड़े जाने से दहशत मे थे। लेकिन अब तटबंधो पर पानी का दबाव कम हो गया है।
जलसंसाधन विभाग के सहायक अभियंता ओसामा वारसी के मुताबिक वर्तमान मे गंडक मे 70.16 मीटर ऊंचा पानी का बहाव है। जिससे बांध को कोई खतरा नहीं है। लेकिन अगर गंडक मे पानी बहाव 71.52 से ऊपर जायेगा तब जिले में बाढ़ की संभावना बढ़ जाती है।

सहायक अभियंता के मुताबिक सदर प्रखंड के पतहरा में बोल्डर पिचिंग से काम कराया गया है। इसलिए यहाँ तटबंध को कोई खतरा नहीं है। लेकिन मसानथाना, मेहंदिया में तटबंध में रिसाव की आशंका को लेकर वहा पर कटाव निरोधी कार्य कराया जा रहा है।

बहरहाल जिले में अगर 5 लाख क्यूसेक पानी का बहाव होगा तब बाढ़ तटबंधो को खतरा हो सकता है।

वही सदर बीडीओ पंकज कुमार शक्तिधर ने बताया कि जिले में जहा जहा भी रेनकट से तटबंधो को खतरा है। वहा मिट्टी भराई का कार्य किया जा रहा है। सदर प्रखंड के चार जगहों को रेनकट से बचाव के लिए मिटटी और बालू से भरे बोरे सुरक्षित करने की कवायद की जा रही है। डीएम के निर्देश पर यादोपुर मंगलपुर महासेतु के पाया में हो रहे मिट्टी के कटाव को दुरुस्त करने की कोशिश की जा रही है। सदर बीडीओ के मुताबिक गंडक में 5 लाख क्यूसेक पानी एक बहाव से भी जिले को कोई खतरा नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!