गोपालगंज में चाची की प्रताड़ना से तंग आ कर किशोरी ने छोड़ा घर, किशोरी पर पड़ी मनचलों की नज़र

गोपालगंज में बरौली के रुपनछाप गांव की एक किशोरी अपनी चाची की प्रताड़ना से तंग आ कर घर छोड़ कर निकल पड़ी. घर से निकलते ही कुछ मनचलों की नजर अकेले जाते किशोरी पर पड़ गयी. वह किसी तरह बचते-बचाते, दौड़ते-भागते शहर के मेन मार्केट स्थित राज मध्य विद्यालय पहुंची. विद्यालय के कर्मी से किशोरी ने सिसकते हुए बताया कि उसके माता-पिता बचपन में ही उसे अकेला छोड़ कर मर गये हैं. उसके बाद से वह चाचा-चाची की देखरेख में जीवनयापन कर रही थी.

बताया जाता है की चाची की प्रताड़ना से तंग आ कर किशोरी घर छोड़ कर निकल गयी और भटकते हुए लकड़ी दरगाह पहुंची. वहां से वह मीरगंज पहुंची. लकड़ी दरगाह से ही उसके पीछे कुछ मनचले पड़ गये. मनचलों की छेड़खानी और गलत इरादों से बचने को वह राज मध्य विद्यालय में भाग कर गयी. साथ ही रसोइया और शिक्षकों के साथ-साथ स्थानीय लोगों को आपबीती सुनायी.

मजबूर किशोरी शिक्षकों व स्थानीय लोगों की जागरूकता के कारण पीछे पड़े मनचले लड़कों के खतरनाक इरादों से बाल-बाल बच गयी. लोगों ने किशोरी को शरण देकर उसको ढांढ़स बंधाया और पीछे पड़े मनचलों को डांट-फटकार कर भगाया.

वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने मामले की जानकारी होने से साफ़ इनकार किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!