गोपालगंज में जमीन विवाद में शिक्षक ने किया अपने पट्टीदार की गला दबाकर निर्मम हत्या

गोपालगंज के फुलवरिया में दस वर्ष पूर्व पुराने जमीन विवाद में शिक्षक ने पट्टीदार की गला द्वाकर निर्मम हत्या कर दी। हत्या के बाद गांव में सनसनी फ़ैल गई। वही पुलिस मौके पर पहुंच कर शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। घटना शनिवार की सुबह फुलवरिया थाना के जटहा गांव की है।

मिली जानकारी के अनुसार जटहां गांव निवासी स्वर्गीय काशीनाथ सिंह के 35 वर्षीय पुत्र संजय सिंह व उनके पट्टीदार शिक्षक बिहारी लाल सिंह से पुश्तैनी जमीन बंटवारे को लेकर विगत दस वर्षों से विवाद चल रहा था। कई बार दोनो के बीच विवाद भी हुआ था। वही शुक्रवार के दिन संजय सिंह साझे के जमीन में लगे बांस काटने गए हुए थे। जिसको लेकर उनके पट्टीदार बिहारी लाल और उनके बीच विवाद हुआ। जिस दौरान शिक्षक ने संजय को जान से मार देने की धमकी दी। तथा उसी विवाद को लेकर शनिवार की सुबह बिहारी लाल सिंह उनकी पत्नी निर्मला देवी पुत्र भीम कुमार सिंह पुत्री शोभिता कुमारी ने घर में घुस कर संजय सिंह का गला दबाकर निर्मम हत्या कर दिया। हत्या के दौरान उनके कराहने की आवाज सुनकर जब पत्नी घर से बाहर आई तो देखी चारों लोग मिलकर उन की गला दबाकर हत्या कर रहे हैं। पत्नी को आते देख सभी लोग फरार हो गये। जिसके बाद आनन-फानन में उनकी पत्नी व स्थानीय लोगों की मदद से पास के बाजार में एक निजी क्लिनिक में इलाज के लिए लाया गया। जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना को अंजाम देने के बाद उक्त मास्टर अपने पुरे परिवार को बोलरों में बैठाकर लेकर फरार हो गया। पुलिस मौके पर पहुंचती तब तक तक वह गांव छोड़ चूका था। मृतक की पत्नी सुनीता देवी ने अपने पट्टीदार शिक्षक बिहारी लाल सिंह उनकी पत्नी निर्मला देवी पुत्र भीम कुमार सिंह पुत्री शोभिता कुमारी को नामजद करते हुए एफआईआर दर्ज कराया है।

बता दे की शिक्षक बिहारी लाल सिंह हथुआ प्रखंड के एक विद्यालय में संकुल समन्वयक के पद पर कार्यरत है। हालाकिं उक्त जमीन का विवाद विगत 12 वर्षो से दोनों के परिवार के बीच चल आ रहा है। ग्रामीणों की माने तो उक्त शिक्षक ने मृत संजय की माँ की हत्या भी कर दिया था। वही उसके पिता को भी कुछ ऐसा पदार्थ खिलाया था। जिसके बाद वह पागल होकर घर से कही चले गये। जिनका पता आज भी नहीं चल सका।

मृत संजय सिंह की पत्नी सुनीता देवी का पति के मौत के बाद रो-रोकर बुरा हाल है। सुनीता को अपने ब्च्चोकी परवरिश की चिंता सता रही है। उसे 7 वर्षीय पुत्री काजल कुमारी ,5वर्षीय पुत्री सोनी कुमारी तीन वर्षीय पुत्र युवराज सिंह, वह 5 माह की मासूम बच्ची शिवानी कुमारी का परवरिश अब भगवान भरोसे है।वही उसके एक वरिश तीन वर्षीय मासूम के जान के पीछे दुशमन लगे हुए है। उसकी चिंता अगल सताएं जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!