Fri. Aug 23rd, 2019

गोपालगंज: तीन नवजात के जन्म के बाद प्रसूता की मौत, स्पताल पर लापरवाही का लगा आरोप

गोपालगंज सदर अस्पताल से बेहतर इलाज के लिए पटना गई प्रसूता की मौत तीन नवजात के जन्म के उपरांत हो गई। जिस निजी नर्सिंग होम में मौत हुई उसपर परिजनों ने लापरवाही का आरोप लगाया है।

बता दें कि मांझा थाना के कोइनी गांव के निवासी महमद  मेराज की 35 वर्षीय पत्नी एवं प्रसूता सरवरी खातून 16 अप्रैल बुधवार को प्रसव पीड़ा शुरू हुई। परिजन उसे सदर अस्पताल लाये। लेकिन हालत चिंताजनक देखते हुए चिकित्सको ने उसे बेहतर इलाज हेतु पटना पीएमसीएच रेफर कर दिया। पटना रेफर होने के बाद प्रसूता के साथ सदर अस्पताल से सहयोग के लिए एक कम्पाउनडर अभय सिंह को एम्बुलेंस के साथ भेजा गया। लेकिन अभय सिंह प्रसूता को पीएमसीएच न ले जाकर पटना के एक निजी नर्सिंग होम में जबरन भर्ती करा दिया। जहां प्रसूता ने शल्यचिकित्सा पद्धति से तीन बच्चों को जन्म दिया। जन्म देते ही प्रसूता की हालत बिगड़ी और उसकी मौत हो गई।

प्रसूता के मौत के बाद अस्पताल प्रशासन ने परिजनों डेढ लाख रुपया का बिल पकड़ा दिया। बिल हाथ में मिलते ही मृत महिला के पति के पैरो तले की जमीन खिसक गई। वही जब परिजन अस्पताल प्रशासन से बिल का हिसाब मांगा तो अस्पताल के प्रबंधक ने 15 हजार रुपया कमीशन कम्पाउनडर द्वारा लिए जाने की बात बताई।

बता दें कि मृतक सरवरी खातून के आठ बच्चे है। जिसमे पहला पुत्र 11 वर्षीय सेराज आलम पुत्री  शम्मा प्रवीन, एजाज, सबीना खातुन, जुगनू खातुन, सहित दो बेटे और तीन पुत्री माँ की मौत के बाद काफी सदमे में है। बच्चो का रो-रो कर बुरा हाल है। वही पिता मेराज बच्चो के परिवरिश को लेकर काफी परेशान है।

.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!