गोपालगंज में सामूहिक विवाह समारोह में बिना दान दहेज के 10 जोड़े विवाह बंधन में बंधे

गोपालगंज के भोरे प्रखंड के लामीचौर मध्य विद्यालय के खेल मैदान में जीवन ज्योति वैवाहिक सेवा संस्थान की तरफ से आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में गुरुवार को 10 जोड़े युवक युवतियां शादी के बंधन में बंध गए। पंडितों के वैदिक मंत्रोच्चार व महिलाओं के मंगल गीत के बीच दृश्य मनमोहक लग रहा था। पिछले कई वर्षों से आयोजित हो रहे सामूहिक विवाह कार्यक्रम में प्रत्येक वर्ष युवक युवतियों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इस दान दहेज विहीन सामूहिक विवाह कार्यक्रम से फिजूल खर्ची और दहेज रूपी कुरितियों से मुक्ति भी मिल रही है। शादी समारोह का पुरा खर्च वैवाहिक सेवा संस्थान और आसपास के लोग उठा रहे हैं। इन नव दम्पत्तियों के लिए लाखों रुपए के गहने कपड़े व अन्य सामान उपहार स्वरूप मिले हैं। ऐसी शादियों से कमजोर व निर्धन परिवारों में लड़कियों का जन्म अभिशाप नहीं वरदान बन रहा है।

इस कार्यक्रम में यूपी के देवरिया जिले के बघौच थाने के सुंदरपुर गांव की नेहा कुमारी और गोपालगंज जिले के राजपुर गांव के धर्मेंद्र चौहान, देवरिया के ही बभनी गांव की रानी कुमारी और खामपार थाने के भलुअन गांव के रामाशंकर चौरसिया, भोरे थाने के लकटहां गांव की बबीता कुमारी और उछकागांव थाने के पकड़ी गांव के जय प्रकाश राम, भोरे के भगवानपुर गांव की रानी कुमारी और सीवान जिले के सिमरिया गांव के अक्षय लाल राजभर, गोपालगंज के जिगना मानिकपुर गांव की अनिता कुमारी और बरौली थाने के कहला विरैचा गांव के रूपेश कुमार पासवान, भोरे थाने के लामिचौर गांव की संध्या कुमारी और देवरिया के अहिरौली तिवारी गांव के अनिल कुमार गोंड़, भोरे थाने के लामिचौर गांव की रंभा कुमारी और पंचदेवरी के थाने के अहिरौली गांव के पप्पू चौहान, कुशीनगर जिले के परसौनी गांव की संतोषी कुमारी और जगतौली गांव के पन्ना लाल वर्मा, खामपार थाने के परसिया गांव की लालसा कुमारी और भोरे थाने के भानपुर बनकटा गांव के चंदन कुमार और सीवान जिले के रघुनाथपुर थाने के राजपुर टोला लक्ष्मीपुर गांव की चांदनी कुमारी और राजस्थान के गंगानगर जिले के करण पाल एक- दूसरे की शादी के बंधन में बंध गए।

मौके पर अवध बिहारी सिंह, वीरेंद्र चौरसिया, संजय उर्फ लारा, मोहन सिंह, मुखिया ऋषि देव पांडे और कमलेश प्रसाद, जिला पार्षद सुनैना कुंवर,ड्रा एसआर मल्लिक उर्फ बंगाली बाबू ,इकरामुद्दीन सिद्धकी, कमलेश सिंह आदि थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!