गोपालगंज: जबरन विसर्जन कराने पर भड़के कई हिन्दु संगठनों के कार्यकर्ता, आगजनी कर विरोध जताया

गोपालगंज के कुचायकोट में प्रशासन द्वारा जबरन सरस्वती प्रतिमा का विसर्जन सोमवार को कराने को लेकर बाजार के हिन्दू संगठन के कार्यकर्ता सड़क पर उतर गए। नाराज बाजार वासियों और आसपास के ग्रामीणो का आक्रोश मंगलवार को  प्रदर्शन में बदल गया। उनके द्वारा एनएच-28 पर भठवा मोड़ पर करीब दो घंटे तक आगजनी कर सड़क जाम दिया। प्रदर्शनकारी घंटो प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध जताया। ग्रामीणों का आक्रोश देखते हुए आसपास के आधा दर्जन थानों की पुलिस को मौके पर पंहुच गई। लेकिन बीडीओ और थानाध्यक्ष के साथ अन्य पदाधिकारियों के  काफी मशक्कत के बाद ग्रामीण शांत हुए। इस दौरान उचकागांव पंचायत से निकले एक प्रतिमा विसर्जन जुलूस को प्रदर्शनकारियों ने चौराहे के पास रोके रखा। ग्रामीणों के शांत होने के बाद उचकागांव पूजा समिति के लोग प्रतिमा विसर्जन के लिए आगे बढ़ सके।

घटना की जानकारी होने के बाद वरीय पदाधिकारी मामलें के गंभीरता को देखेते हुए पल-पल की जानकारी लेते रहे। मामला संवेदनशील होने के कारण पदाधिकारियों की पूरी नजर प्रदर्शन पर लगी रही। जिसको लेकर जिले के आधा दर्जन थानाध्यक्ष को मौके पर भेज दिया गया।

बता दे की सोमवार को प्रतिमा विसर्जन का समय निर्धारित किया गया था। कुछ पूजा समितिया सोमवार को प्रतिमा विसर्जन नहीं करके बुधवार को करना चाहती थी। लेकिन कुचायकोट बाजार में भी स्थापित प्रतिमा को भी प्रशासन के दबाव में सोमवार को विसर्जित कर दिया गया। इधर मंगलवार को जब बाजार वासियों को जानकारी हुई कि उचकागांव पूजा समिति द्वारा स्थापित सरस्वती प्रतिमा ढोल ताशे, गाजे-बाजे और हाथी घोड़ों के साथ भव्य रूप से विसर्जन के लिए ले जाया जा रहा है। तो वे आक्रोशित हो गए।  आक्रोशित लोगों ने सड़क पर टायर जलाकर आगजनी शुरू कर दी।तथा प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। प्रदर्शन कर रहे लोगों का आरोप था प्रशासन द्वारा जबरन मूर्तियों का विसर्जन सोमवार को करा दिया गया। जबकि कुछ मूर्तियों का विसर्जन मंगलवार को भी जारी रहा। प्रदर्शन कर रहे लोगो ने लगभग दो घंटे तक सड़क को जाम रखा। जिसके बाद पदाधिकारियों के समझाने के बाद लोग शांत हो सके। तब जाकर जाम को हटाया जा सका।

जाम की सूचना पाकर एएसपी विनय तिवारी भी मौके पर पंहुच गये। वही स्थिति की गंभीरता को देखते हुए नगर थानाध्यक्ष, गोपालपुर उचकागांव, विशंभरपुर, फुलवरिया, यादोपुर सहित आधा दर्जन थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। काफी मशक्कत के बाद लोग शांत हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!