गोपालगंज में दो किन्नर अपने समुदाय को दिखा रहे आईना, 8 वर्षो से घर छोड़ बनाती है प्रतिमा

आज के समय में समाज की मुख्य धारा से अलग रह कर जहां किन्नर समुदाय के लोग ताली बजाकर अपना जीवन यापन कर रहे है। वही सिधवलिया के जलालपुर बाजार में दिल्ली और यूपी के बलिया से आई दो किन्नर प्रतिमा निर्माण कर सिर्फ अपना जीवनयापन ही नहीं बल्कि अपने सुमदाय के लोगो को रास्ता दिखा रही है। अभी माँ सरस्वती की प्रतिमा को जीवंत रूप देने में दोनो किन्नर जुटे हुए है।

बता दें कि लगभग आठ वर्ष पूर्व दिल्ली के पहाड़गंज और यूपी के बलिया सेसिधवलिया प्रखंड के जलालपुर बाजार में दो  किन्नर सोना और वैशाली आई। तथा खुद प्रतिमा का निर्माण कर समाज को नया प्रेरणा दिया है। सोना और वैशाली खुद ही नहीं बल्कि अपने साथ आठ किन्नरों को जीविका दे रखी है। सोना और वैशाली माँ दुर्गा, सरस्वती, लक्ष्मी गणेश, हनुमान और विश्वकर्मा भगवान के प्रतिमा का निर्माण करती है। मूर्ति का बेहतर निर्माण कर वह सफल मूर्तिकार के रूप में अपना पहचान बना चुकी है। इन दिनों दोनों किन्नर अपने साथियों के साथ जलालपुर बाजार में माँ सरस्वती के प्रतिमा निर्माण कार्य में लगी हुई है। जिसे देख दूसरे लोग भी दंग रह जा रहे है।

मोनिका किन्नर के मुताबिक पिछले 15 साल से इस इलाके में रहकर मुर्तियो का निर्माण करती है। मूर्तियों को बेचकर जो रुपये कमाती है उस रुपये को वो अपने ऊपर खर्च कराती है और जो बचता है उस रुपये को गरीबो में दान देती है। उनकी मुर्तियो की डिमांड के साथ ही लोग अब उन्हें इज्जत की निगाह से देखते है। अब उनकी भी समाज में प्रतिष्ठा बढ़ गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!