गोपालगंज में बैकुंठपुर के फैजुल्लाहपुर सामुदायिक भवन में महिलाओं ने मुखिया को बनाया बंधक

गोपालगंज के बैकुंठपुर प्रखंड के फैजुल्लाहपुर सामुदायिक भवन पर जीविका समूह की महिलाओं ने शुक्रवार को पंचायत की मुखिया कुंती देवी को घंटों बंधक बनाए रखा।

बताया गया कि 30सितंबर 2018 को फैजुल्लाहपुर पंचायत को प्रशासन ने खुले में शौच मुक्त घोषित किया था जो प्रखंड का पहला पंचायत था। उसके बाद से अब तक जियो टैगिंग की रफ्तार धीमी होने के कारण ग्रामीणों को शौचालय निर्माण प्रोत्साहन राशि चार बाद ही उनके बैंक खाते में ट्रांसफर नहीं की जा सकी है। राशि के लिए चार माह से चक्कर लगा रहे ग्रामीण महिलाओं का गुस्सा शुक्रवार को अचानक फूट पड़ा। आक्रोशित महिलाएं समुदायिक भवन में कार्यों का निष्पादन कर रही मुखिया कुंती देवी तथा मुखिया पति संजय राय को बंधक बना लिया। सुबह नौ बजे से बंधन बनी मुखिया कुंती देवी के काफी गिड़गिड़ाने व उचित आश्वासन देने के बाद महिलाएं उन्हें मुक्त कर सकी।

बंधक बनाने के बाद प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने बताया कि वे महाजन से कर्ज लेकर, गहना गिरवी रखकर तथा जीविका समूह से लोन लेकर शौचालय का निर्माण कराई हैं। बावजूद उन्हें अब तक राशि का भुगतान नहीं किया जा सका है। स्थानीय मुखिया कुंती देवी ने बंधक बनाए जाने की बात प्रखंड विकास पदाधिकारी अरविंद कुमार गुप्ता को भी बताइ। बीडीओ अरविंद कुमार गुप्ता ने शीघ्र ही जीओ टैगिंग कार्य पूरा कराने का आश्वासन दिया।

उधर प्रदर्शनकारी जीविका समूह की महिलाओं का कहना था कि यदि 15 दिनों के अंदर उनके बैंक खाते में शौचालय निर्माण की राशि ट्रांसफर नहीं की गई तो वे बाध्य होकर प्रखंड कार्यालय और उसके बाद जिला मुख्यालय में भी धरना-प्रदर्शन व हंगामा करेंगी। प्रदर्शनकारियों ने स्थानीय प्रशासन पर शौचालय निर्माण की राशि ट्रांसफर करने में शिथिलता बरतने का भी आरोप लगाया। मुखिया कुंती देवी ने महिलाओं को काफी समझा बुझाकर उचित आश्वासन दी। तब जाकर महिलाओं नें मुखिया दंपति को मुक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!