Thu. Aug 22nd, 2019

गोपालगंज: डॉक्टर ने पेश की अनूठी मिसाल, बेटे ने पैसा छिनकर ठुकराया तो डॉक्टर ने दिया सहारा

जिसका उंगली पकड़कर चलना सिखाया. ताउम्र उसकी सफलता के लिए दिन-रात मेहनत करते रहे. वही बेटा आज उम्र के अंतिम पड़ाव पर पहुंचते ही जीवन भर की कमाई न सिर्फ छिन लिया, बल्कि तरह-तरह से यातना देकर उस पिता को मजबूर कर दिया. यह कहानी है गोपालगंज के थावे थाना क्षेत्र के चनावे गांव निवासी रेलवे के रिटायर्ड टीटी शर्मा नंदपुरी की. नंदपुरी गठिया और पेट की बीमारी से ग्रसित हैं. इलाज के लिए पेंशन उठाते ही बेटा न सिर्फ पैसा छिन लिया, बल्कि मारपीट कर जख्मी कर दिया. बेटा के इस करतूत से आहत पिता पूरी तरह से टूट चुके हैं. जब शहर के प्रमुख डॉक्टर आलोक कुमार सुमन को जानकारी मिली तो वे पीड़ित पिता को बुलाकर न सिर्फ इलाज किए, बल्कि उनके अंतिम सांस तक सहारा बनने का जिम्मेदारी उठायी. शर्मा नंदपुरी ने बताया कि 25 साल पहले पत्नी का निधन हो गया था. मां का निधन होने के बाद से बेटे की पढ़ाई लिखाई से लेकर उसकी शादी-विवाह तक की. आज उसी बेटे से यातना मिल रही है.

बता दे की थावे थाना क्षेत्र के चनावे गांव निवासी शर्मा नंदपुरी ने 17 जनवरी को अपने बेटे मृत्युंजय पुरी पर पेंशन का पैसा छिन लेने तथा मारपीट कर हत्या की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए थाने में शिकायत की थी. पुलिस ने पीड़ित पिता की शिकायत पर कांड अंकित कर मामले में कार्रवाई शुरू की है.

उधर, घटना के बाद फरार आरोपित की तलाश में थावे थाने की पुलिस ने दो बार चनावे गांव में छापेमारी की. हालांकि आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हो सकी. उधर, एएसपी विनय तिवारी ने इस पूरे मामले में कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!