गोपालगंज सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर से हुई मारपीट, ईलाज ठप

गोपालगंज सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में उस वक्त अफरा तफरी का माहौल पैदा हो गया जब इलाज कराने आए मरीज़ के परिजनों ने इमरजेंसी वार्ड में ड्यूटी में तैनात डॉक्टर के साथ दुर्व्यवहार करते हुए मारपीट शुरू कर दिया. मरीज के साथ शराब के नशे में पहुंच परिजनों ने डॉक्टर को एके-47 से उड़ाने की धमकी भी दे डाली. जिसके बाद आक्रोशित डॉक्टरों ने ईलाज ठप कर दी है. हड़ताल के कारण मरीजों की परेशानी बढ़ गई है. देर रात तक ईलाज के लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं किया गया है. घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर नगर थानाध्यक्ष अपने दल बल के साथ पहुँच कर मामले की छानबीन में जुट गए है. वहीं डीडीसी दयानन्द मिश्र ने भी पहुँचकर जांच की.

दरअसल मांझा थाना क्षेत्र के छवही गांव निवासी जयप्रकाश चौरसिया के घर में लगे गैस सिलेंडर में कुछ समस्या उत्पन्न हो गयी थी. जिसके समाधान के लिए उन्होंने गैस एजेंसी के मैकेनिक एवं अपने पड़ोसी सोचुन साह को अपने घर बुलाया. गैस ठीक करने के क्रम में गैस सिलेंडर में आग लग गयी जिसमे मैकेनिक सोचुन साह समेत गृहस्वामी जयप्रकाश चौरसिया एवं उनकी पत्नी रिंकू देवी बुरी तरह झुलस गयी. जिसके बाद परिजन सभी घायलों को लकर ईलाज कराने के लिए सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में लेकर पहुंचे. जहां डॉ कौशर जावेद ने ईलाज शुरू कर दी. इस दौरान चार से पांच की संख्या में शराब के नशे में पहुंचे युवकों ने डॉक्टर के साथ बदसलूकी शुरू कर दी. डॉक्टर ने युवकों को इमरजेंसी से निकलने को कहा, जिससे नाराज होकर युवकों ने मारपीट शुरू कर दी. मारपीट के दौरान एके-47 से उड़ाने की धमकी दी गयी. घटना के वक्त सैफ के जवान मौजूद थे, लेकिन इन जवानों से भी झड़प करते हुए आरोपी फरार हो गये.

पीड़ित डॉक्टर के मुताबिक इसकी सूचना डीएम व एसपी को दी गयी. समाचार लिखे जाने तक पुलिस घटना की जांच में जुटी हुई थी. नगर इंस्पेक्टर रवि कुमार ने कहा कि लिखित शिकायत नहीं मिली है. पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

बता दे कि सदर अस्पताल के इमरजेंसी में एक माह में दूसरी बार डॉक्टर से मारपीट की गयी. इसके पहले नवम्बर महीने में इमरजेंसी में तैनात डॉ संजय कुमार पर हमला हुआ था. जिसमे डॉ संजय की आंख की रेटिना फट गई थी और उन्हें एक माह तक चेन्नई अस्पताल में भर्ती होकर ऑपरेशन करानी पड़ी.

इस घटना में भी अबतक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!