गोपालगंज के भोरे थानाध्यक्ष पर आरोप, शराब पीने के मामले में पकड़ा, पुष्टि नही हुई तो 1 लाख लेकर छोड़ा

गोपालगंज के भोरे पुलिस पर का एक और कारनामा का वीडियो वायरल हो रहा। जिसमे एक कॉन्ट्रक्सन कंपनी के एमडी को पुलिस ने शराब पीने के जुर्म में पकड़ा जब शराब नही पीने की पुष्टि हुई तो 14 घण्टे हाजत में रखने के बाद उनसे एक लाख रुपया रिश्वत लेकर छोड़ दिया।थानाध्यक्ष पर यह आरोप कम्पनी के एमडी लगाते हुए पीड़ित ने डीजीपी डीआइजी,डीएम से लेकर पुलिस अधीक्षक तक मेल भेज कर शिकायत दर्ज कराया है.

दर्ज शिकायत में पीड़ित ने थानाध्यक्ष अजित कुमार सिंह पर ज्यादतिय करने का आरोप लगाया है. किये गये शिकायत के अनुसार उसी थाना क्षेत्र के हुस्सेपुर उपध्याय टोला निवासी तथा पटना में संचालित एक कन्ट्रकसन कम्पनी के निदेशक प्रवीण कुमार उपाध्याय रविवार की देर शाम भोरे बाजार के खजुरहां में स्थित ब्लू एंजल ऑर्केस्ट्रा के कार्यालय मुंडन के लिए बुकिंग कराने गये थे. दिए गये शिकायत में उन्होंने लिखा है कि मै अभी वहां बैठा ही था कि तभी ब्लू एंजल आर्केष्ट्रा के कार्यालय में पुलिस का रेड पड़ गया. पुलिस मेरे लाख सफाई के बाद भी मुझे यह कहकर पकड़ लाइ कि आप शराब पी रहे थे. साथ ही मेरी नई बोलेरो गाड़ी भी ले आई. जिसे मै मात्र दस दिनों पूर्व लिया था. उसे भी वह बगल के एक पेट्रोल पम्प से अपने कब्जे में ले लिया. पुलिस ने उसी समय रेफरल अस्पताल में मेरा जांच कराया. लेकिन अस्पताल में शराब पीने की पुष्टि नहीं हुई. फिर भी मुझे हाजत में 12 घंटे बंद रखा गया.तथा मेरी गाड़ी भी थाने में रखी गई. सुबह मुझसे एक लाख रुपया वसूलने के बाद मुझे छोड़ा गया.जिसके बाद पीड़ित द्वारा एक मेल डीजीपी बिहार पटना,डीआइजी सारण क्षेत्र छपरा,डीएम और एसपी गोपालगंज को भेज कर मामलें की जांच कराने की मांग की है.

पीड़ित ने लिखे गये मेल में यह आरोप लगाया है की सुबह पैसे लेने के बाद एक पीआर बांड हमसे जबरन भरवाया गया. उसके बाद उसे छोड़ा गया. वही रेफरल अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा प्रभारी खाबर इमाम ने बताया कि जांच के लिए जो मेमो आया था. उसे हमने जांच कर थाने को दे दिया है. वैसे जांच में अल्कोहल की पुष्टि नहीं हुई है.

वहीं गोपालगंज  प्रभारी एसपी विनय तिवारी ने बताया की शिकायत मिली है,उसकी जांच कराई जाएगी. अगर थानाध्यक्ष द्वारा इस तरह कृत्य किये जाने की पुष्टि होती है और वह दोषी पाया जाता है,तो उसपर क़ानूनी कारवाई की जाएगी.

One thought on “गोपालगंज के भोरे थानाध्यक्ष पर आरोप, शराब पीने के मामले में पकड़ा, पुष्टि नही हुई तो 1 लाख लेकर छोड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!