Mon. Aug 26th, 2019

गोपालगंज के बैकुंठपुर में ससुराल के प्रताड़ना से तंग आकर मां नें दुधमुंही बेटी के साथ की आत्महत्या

गोपालगंज जिला के थावे-छपरा रेलखंड के दिघवा दुबौली स्टेशन व कतालपुर हाल्ट के बीच दीघा टोला मानव रहित रेलवे क्रासिंग के समीप एक महिला अपने दुधमुंही बच्ची के साथ प्रताड़ना से तंग आकर ट्रेन के आगे छलांग लगाकर जान दे दी। मृतकों में बैकुंठपुर थाने के सिंहासनी गांव के सुरेश गिरी की पत्नी नीलतू देवी तथा उसकी दस माह की दुधमुंही बच्ची ममता कुमारी शामिल है।

घटना के संबंध में बताया गया कि परिवारिक प्रताड़ना से तंग आकर नीलतू देवी अपनी बच्ची के साथ रेलवे ट्रैक पर आ गई और ट्रेन के आगे छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतका के मायके वालों ने पुलिस के समक्ष बताया कि नीलतू देवी को दहेज में बाइक की मांग को लेकर प्रताड़ित किया जाता था। पश्चिमी चंपारण जिले के संग्रामपुर थाने के सेढ़ा मठिया गांव निवासी नीलतू के बड़े पापा रविंद्र गिरी ने पुलिस को बताया कि उसकी भतीजी की शादी वर्ष 2015 में सुरेश गिरी के साथ हुई थी। शादी के बाद से ही मोटरसाइकिल की मांग को लेकर उसे प्रताड़ित किया जाता था। रविंद्र गिरी ने पुलिस को बताया कि प्रताड़ना से तंग आकर नीलतू ने अपने दुधमुंही बच्ची ममता के साथ ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली।

थानाध्यक्ष लक्ष्मीनारायण महतो ने बताया कि दीघा टोला मानव रहित रेलवे फाटक संख्या 20 के समीप पड़ी नीलतू और ममता के शवों को बरामद कर लिया गया है। शिनाख्त के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल गोपालगंज भेजा गया है।

वैसे समाचार लिखे जाने तक मृतका के मायके वालों ने बैकुंठपुर पुलिस को लिखित आवेदन नहीं दिया था। जिस कारण प्राथमिकी दर्ज नहीं की जा सकी है। पुलिस कई बिंदुओं पर छानबीन कर रही है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि नीलतू व उसके दुधमुंही बच्ची की मौत ट्रेन से कटकर किन परिस्थितियों में हुई है। मायके वालों का लिखित आवेदन मिलने या फिर जांच के बाद ही मामला सामने आएगा। वैसे मां-बेटी की हुई मौत की चर्चा पूरे इलाके में जोरों पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!