गोपालगंज के उचकागांव थानाध्यक्ष के खिलाफ आक्रोशित ग्रामीणों का फूटा गुस्सा, जमकर किया प्रदर्शन

गोपालगंज जिला के उचकागांव थाने के महुवआ गांव के निवासी निर्दोष व्यक्ति मोहम्मद साहिल को फुलवरिया पुलिस द्वारा शनिवार के दिन हाजत में बंद कर दिया गया। साथ ही रात भर हाजत में रखने के बाद रविवार के दिन उसे मुक्त किया गया। इसको लेकर सोमवार के दिन ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। आक्रोशित ग्रामीण लाइन बाजार लकड़ी बनबिर मुख्य पथ को घंटों जाम करते हुए टायर जलाकर थानाध्यक्ष के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। आक्रोशित सैकड़ों ग्रामीण थानाध्यक्ष के खिलाफ जातिवाद का आरोप लगाकर नारेबाजी करते रहे। ग्रामीणों के सड़क जाम से घंटो आवागमन बाधित रहा। गाड़ियों की लंबी कतार लग गई।

ग्रामीणों का आरोप था कि कुछ लोगों के कहने पर निर्दोष युवक को 24 घंटे हाजत में थानाध्यक्ष द्वारा बंद कर दिया गया साथ ही युवक कि पिटाई भी की गई। जबकि उसने अपने पिता के नाम लगभग दस साल पहले बाइक खरीदी थी। उस बाइक को उसने एक साल पहले किसी अन्य व्यक्ति के हाथों बेचा था उक्त लोगों ने उस व्यक्ति से बाइक लेकर 4 दिन रखने के बाद फुलवरिया थाना को सुपुर्द करते हुए उक्त युवक को पुलिस के हवाले कर दिया। जबकी मामला उचकागांव थाना क्षेत्र के पकड़ी श्रीकांत का है।इस परिस्थिति में थानाध्यक्ष द्वारा युवक को हाजत में बंद कर 24 घंटे के बाद छोड़ा गया। यदि थानाध्यक्ष को जिला प्रशासन 24 घंटे के अंदर निलंबित नहीं करता है तो आक्रोशित ग्रामीण समाहरणालय गेट पर प्रदर्शन करेंगे। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए भाजपा नेता अनूप कुमार श्रीवास्तव, जिला परिषद क्षेत्र संख्या 14 के पूर्व जिला पार्षद नूर सबा खातून के पति भोला जी, पूर्व बीडीसी खुर्शीद आलम तथा ब्रजेंद्र पांडे ने आक्रोशित लोगों को समझा बुझाकर शांत कराते हुए सड़क जाम हटवाया, इसके बाद यातायात शुरू हुआ।

प्रदर्शनकारियों में अख्तर आलम, भोला भाई, खुर्शीद आलम, अनूप लाल श्रीवास्तव, विजेंद्र पांडे, किताब अंसारी, अफरोज आलम, सद्दाम हुसैन, शमशाद पप्पू, नेहाल, दानिश, अफरोज आलम सिद्दीकी, आरिफ रजा, मसरूर फैजी, इमरान अहमद, फिरोज अख्तर समेत सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण मैजूत थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!