Fri. Aug 23rd, 2019

राबड़ी देवी के खिलाफ चुनाव लड़ चुके LJP नेता का मर्डर, AK-47 से मारी 27 गोलियां !

बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी के खिलाफ राघोपुर में चुनाव लडऩे वाले राकेश रोशन के पिता बृजनाथ सिंह को अपराधियों ने शुक्रवार की शाम में एके-47 से भून डाला। बृजनाथ लोजपा के नेता और पूर्व मुखिया थे। उन्हें 16 गोलियां मारी गईं। उनके साथ स्कॉर्पियों में सवार छोटे भाई ब्रदीनाथ सिंह की पत्नी पूजा देवी की हालत भी नाजुक है। पटना के एसएसपी मनु महाराज ने प्राथमिक जांच के बाद घटना की वजह गैंगवार माना।

जानकारी के अनुसार, करीब एक दर्जन अपराधियों ने स्कॉर्पियो के अंदर अंधाधुंध फायरिंग की। स्कार्पियो में चालक, बृजनाथी सिंह, उनकी पत्नी वीरा सिंह, भाई की पत्नी पूजा सिंह और भतीजा राजेश रोशन सवार थे। चालक और राजेश को छोड़कर सभी को गोलियां लगीं। दोनों महिलाओं को गंभीर स्थिति में अस्पताल में दाखिल कराया गया है।

राबड़ी-तेजस्वी के खिलाफ लड़ा था चुनाव :-

बृजनाथ सिंह को बृजनाथी के नाम से राघोपुर में पहचाना जाता था। उनकी पत्नी मीरा देवी पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के खिलाफ 2011 के विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी थीं। उनके पुत्र राकेश रोशन उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के खिलाफ पिछले विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी थे। बृजनाथी के मंझले भाई अमरनाथ सिंह की पत्नी मुन्नी देवी राघोपुर में प्रखंड प्रमुख हैं।

पटना के एसएसपी मनु महाराज ने कहा कि मुन्ना सिंह और शिवनाथ सिंह के गैंग की संलिप्तता का अनुमान है। पुलिस टीम जांच और छापेमारी में जुटी है। बृजनाथी के खिलाफ भी आपराधिक मामले थे। गैंगवार में उनकी हत्या हुई है। स्कॉर्पियो के ठीक पीछे उनके पुत्र राकेश रोशन अपने लोगों के साथ आ रहे थे।

इस घटना की सूचना मिलते ही अस्पताल में भारी भीड़ जुट गई। उनके समर्थकों ने कुछ देर तक सड़क जाम कर प्रदर्शन किया। लोगों ने धनुकी मोड़ के पास गांधी सेतु को जाम किया और जल्द से जल्द अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग की। हालांकि, पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए परिचालन सामान्य कर दिया।

कच्ची दरगाह के पास हुई वारदात में पुलिस ने मौका-ए-वारदात से AK-47 के 27 खोखे बरामद किए हैं। पुलिस इस घटना को गैंगवार से भी जोड़कर तफ्तीश कर रही है। पुलिस के मुताबिक लोजपा नेता बृजनाथी सिंह पर वैशाली में करीब 20 से अधिक मामले दर्ज हैं।

इस हत्याकाण्ड को कच्ची दरगाह और बिदुपुर के बीच प्रस्तावित पुल के निर्माण से भी जोड़कर देखा जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक बालू के ठेके में जारी विवाद को लेकर वारदात को अंजाम दिया गया है। फिलहाल पुलिस सभी बिंदुओं को संज्ञान में लेकर जांच में जुट गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected By Awaaz Times !!